ऐसे चमकायें घर के बर्तन

ऐसे चमकायें घर के बर्तन

अब पहले की तरह, मिट्टी और लोहे के बर्तन ही नहीं, इनके अलावा भी कई प्रकार के बर्तनों का प्रयोग होता है। साफ चमकदार बर्तनों में खाना-पीना और उनको साफ सुथरा चमकदार देखना सभी को अच्छा लगता है। भिन्न-भिन्न बर्तनों को अलग-अलग तरीके से साफ करना चाहिए। तभी उनकी चमक को बरकरार रखा जा सकता है।

प्लास्टिक के बर्तनों का प्रचलन दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है क्योंकि इनका प्रयोग आसानी से किया जा सकता है। इन बर्तनों को हल्के साबुन के घोल से धोकर साफ किया जा सकता है। सर्दियों में हल्के गर्म पानी में साबुन का घोल बनाकर बर्तन साफ करें।

नॉन स्टिक बर्तनों में भोजन कम चिकनाई में बनाया जा सकता है। इनका प्रयोग भी बड़े शहरों में पिछले सात से दस सालों में अधिक हुआ है। इनको नर्म ब्रुश के साथ साबुन के घोल से साफ करें। इन बर्तनों की तेज रगड़ाई करने से इनकी कोटिंग उतर जाती है जिससे बर्तनों की उपयोगिता खत्म हो जायेगी।

स्टील के बर्तनों में परोसा हुआ खाना अच्छा लगता है। इनको साफ करना बहुत आसान है। उन बर्तनों को लोहे के ब्रश से साफ न करें जिससे बर्तनों पर लाइनें पड़ जायेंगी और चमक कम हो जायेगी। स्पंज में साबुन लगाकर हल्की रगड़ से इन बर्तनों की चिकनाई को साफ किया जा सकता है। गैस की आंच के दागों को थोड़ा जोर लगाकर नायलॉन ब्रश से रगड़ कर साफ करें।

अल्यूमीनियम के बर्तन रसोई में कुकर, चाय के बर्तन और कढ़ाई आदि के रूप में अधिक प्रयोग किए जाते हैं। इन बर्तनों को साबुन वाले ब्रुश से रगड़ कर साफ करें। कुकर, कढ़ाई आदि को स्टील वूल से चिकनाई हेतु गर्म साबुन व पानी के घोल से साफ करें। बर्तन जलने पर कटे हुए प्याज के टुकड़े डालकर उबालें। फिर उसे एक रबर से साफ करें। सिरके मिले पानी से भी इन बर्तनों को साफ किया जा सकता है।

लकड़ी के बर्तनों में सर्विंग प्लेट्स और ट्रे अधिकतर प्रयोग में लाई जाती है या नॉन स्टिक बर्तनों के लिए स्पेटुला, अचार निकालने के लिए लकड़ी का बड़ा चम्मच आदि प्रयोग होते हैं। सर्विग प्लेटस में सूखे पदार्थ सर्व करें जिन्हें बाद में साफ कपड़े से पोंछ कर पुन: प्रयोग में ला सकते हैं। ट्रे के अंदर रेक्सिन का मैट बिछाएं जिसे आवश्यकता अनुसार साफ किया जा सकता है और सुखा कर पुन: उसी ट्रे में रख दें। स्पेटुला और चम्मच को साबुन वाले घोल से नायलॉन बु्रश से हल्का रगड़ कर साफ करें।

कांच और बोन चाइना के बर्तन बहुत नाजुक होते हैं। इन्हें प्रयोग करने के तुरंत बाद साफ कर लेना चाहिए क्योंकि ऐसे-ऐसे बर्तन जल्दी टूट जाते हैं और अधिक समय तक इनमें भोजन पड़ा रहे तो दाग पड़ जाते हैं। दाग धब्बे पडऩे पर उन बर्तनों को अमोनिया घोल से साफ कर धोएं और पोंछ कर संभाल दें। वैसे इन्हें नाजुक हाथों से साबुन के घोल में धोकर पोंछ कर रखें। लोहे के बर्तनों में खाना बनाना बहुत अच्छा होता है क्योंकि लोहे वाले बर्तनों में बने खाने में लौह तत्व भरपूर मात्र में होता है जो भोजन के साथ हमारे शरीर में जाकर लाभ पहुंचाता है। इन बर्तनों को राख में थोडा सूखा वाशिंग पाउडर मिलाकर स्क्र बर से साफ करें। साबुन के पानी में सोड़ा मिला कर भी इन्हें साफ किया जा सकता है। बाद में पोंछ कर बर्तनों पर थोड़ा सरसों का तेल चुपड़ दें जिससे जंग नहीं लगेगा। वैसे इन बर्तनों के अलावा कम प्रयोग में आने वाले बर्तनों में मिट्टी कांसे, तांबे और चांदी के बर्तन भी होते हैं। कांसे, तांबे के बर्तनों को नींबू रगड़ कर साफ करें। मिट्टी के बर्तनों को साफ खुले पानी से धोकर साफ करें। हर प्रकार के बर्तनों की सफाई और अच्छे रख रखाव से उनकी आयु बढ़ाई जा सकती है। आपको लम्बे समय तक के लिए बर्तनों का साथ भी मिल जायेगा जिनको आपने कई अरमानों से खरीदा है।

-सुनीता गाबा

Share it
Top