व्यक्तित्व में चार चांद लगाती हैं आपकी कलाइयां

व्यक्तित्व में चार चांद लगाती हैं आपकी कलाइयां

जिस प्रकार हाथों का सौंदर्य आपके व्यक्तित्व में निखार लाता है, उसी प्रकार कलाइयों का सौंदर्य भी आपके व्यक्तित्व को प्रभावित करता है। कलाइयों की बनावट वैसे तो प्रकृतिप्रदत्त होती है परंतु कई बार कुछ कारणों से जैसे ज्यादा काम करने से, अधिक बोझ उठाने से, तंग आभूषण या घड़ी पहनने से कलाइयों का सौंदर्य कम हो जाता है।

शरीर में वसा की कमी से भी कलाइयों की सुंदरता कम हो जाती है। कलाइयां हमेशा गोल, सुंदर व नाजुक होनी चाहिएं। आइए जानें कि कलाइयों को आकर्षक व सुंदर कैसे बनाया जाए ताकि आप भी सुंदर कलाइयों की स्वामिनी बन सकें।

- यदि आप जरूरत से ज्यादा कूटने-पीसने का काम करती हैं तो मिक्सी का प्रयोग करें। इससे कलाइयों पर दबाव नहीं पड़ेगा।

- भारी सामान को ज्यादा देर तक न उठाएं। अधिक देर तक उठाना पड़े तो बीच में नीचे रख दें। इससे कलाइयों को आराम मिलेगा।

- नहाने से पहले कलाइयों की कुछ देर तक मालिश करें।

- भोजन में प्रोटीन, विटामिन व कैल्शियम की उपयुक्त मात्रा रखें।

- शरीर में खून की कमी न होने दें।

- कलाइयों को चिकना व चमकदार बनाने के लिए रात को सोने से पूर्व उन पर बादाम का तेल, नींबू का रस व शहद मिला मिश्रण मलें।

- कलाई पर ज्यादा देर तक घड़ी या अन्य आभूषण न पहनें। इससे रक्तसंचार रूक जाता है व कलाइयां बेजान हो जाती हैं।

- हफ्ते में एक बार, कलाइयों पर शहद, केला व मुलतानी मिट्टी का पेस्ट लगाएं। कभी-कभी पका पपीता भी लगाएं। सूख जाने पर कलाइयां धो लें। इससे कलाइयां नरम व कोमल हो जाएंगी।

- चोकर में दही मिलाकर लगाने से कलाइयां चिकनी रहती हैं।

- कलाइयों को आकर्षक बनाने के लिए व्यायाम भी करें जैसे-उंगलियों को जितना फैला सकें, फैलाएं। इससे कलाइयों की उभरी हुई नसें ठीक हो जाएंगी। हाथों की मुटिठयों को बंद करें व खोलें। ऐसा करने से रक्तसंचार में तेजी आती है।

- कलाइयों की सजावट द्वारा भी उन्हें आकर्षक बनाया जा सकता है। कलाइयों पर चूडिय़ां अपने वस्त्रों से मेल खाती पहनें।

- बहुत पतली कलाई पर ज्यादा ढीली व मोटी कलाइयों पर कसी व छोटी चूड़ी या ब्रेसलेट न पहनें। एक कलाई पर चूड़ी व दूसरी कलाई पर घड़ी बांधें। दोनों चीजें एक ही कलाई में नहीं पहनें। इससे कलाई का आकर्षण कम हो जाता है।

- शैली माथुर

Share it
Top