झूठ बोले कौआ काटे

झूठ बोले कौआ काटे

अक्सर युवतियों को शिकायत रहती है कि उनके पति या ब्वायफ्रेंड उनसे झूठ बोलते हैं। उनके कुछ झूठ तो ऐसे होते हैं जिनसे पत्नी या गर्लफ्रेंड खुश ही होती है। इससे प्रेरित होकर वे ज्यादा झूठ बोलने लगते हैं।

मनोवैज्ञानिक मानते हैं कि अक्सर व्यक्ति अपनी गलती को छुपाने के लिए झूठ बोलता है परंतु पुरूष अपनी गर्लफ्रेंड या पत्नी के स्वभाव के अनुसार झूठ बोलते हैं।

ताकि आप खुश रहें:-

जब वह आपसे यह कहता है कि मैं कभी तुमसे झूठ नहीं बोलता तो मनोचिकित्सकों के मुताबिक वह आपको दुख नहीं पहुंचाना चाहता। कई बार कुछ बातों के लिए ऐसा करना उसके लिए जरूरी हो जाता है वरना आपके संबंध खराब हो सकते हैं। जैसे वह किसी पार्टी में या ऑफिस टूर पर फीमेल सहकमियों के साथ जाए पर आपके पूछने पर साफ इंकार कर दे तो इसके पीछे यही मकसद होता है कि आप बेवजह ही परेशान न हों, यह सोच-सोच कर कि उसने वहां फीमेल सहकर्मियों के साथ कैसा व्यवहार किया होगा।

हो सकता है आप स्वभाव से शक्की हों, इसलिए वह ऐसा करता है। अक्सर महिलाएं जब ज्यादा पूछताछ करती हैं तो पुरूष अपना पल्ला बचाने हेतु झूठ बोलना ही पसंद करते हैं।

अहं को बचाने हेतु:- पुरूषों को यह भय होता है कि किसी टूट-फूट या मशीनी खराबी को वे झट से ठीक कर सकते हैं पर अगर वे किसी महिला के सामने खासकर गर्लफ्रेंड या पत्नी के समक्ष ऐसा नहीं कर पाते तो अपने ईगो को बचाने हेतु उन्हें झूठ बोलना पड़ता है। इसके लिए वे कोई भी बहाना बनाने से नहीं चूकते।

रिलेशनशिप एडवाइजर मानते हैं कि अगर ऐसे में पत्नी/गर्लफ्रेंड उनके झूठ को पकड़कर उनसे यह कहलवाना चाहे कि वे हार मान लें तो उनका ईगो हर्ट होता है और आपसी संबंधों में कड़वाहट पैदा होती है। बेहतर है कि ऐसी स्थिति में चुप रहें।

आत्म सुरक्षा:- आपने उसे कुछ लाने के लिए कहा हो या किसी अन्य कार्य करने हेतु और वह भूल जाए तो वह आपके क्रोध से बचने के लिए सीधे यह कहने की बजाय कि वह भूल गया, कोई न कोई एक्सक्यूज देगा जैसे ऑफिस में मीटिंग देर तक चली और घर पहुंचने के लिए देर हो जाती इत्यादि।

हालांकि आप उसकी भूलने की आदत से परेशान हैं, फिर भी उसी समय उससे तकरार करना ठीक नहीं।

वह किसी परेशानी में हो तो पूछने पर आपको यही जवाब मिलेगा, 'ऐसा कुछ नहीं'। ऐसा वह इसलिए करता है क्योंकि वह अपनी टेंशन, प्रेशर या डिप्रेशन को स्वयं तक ही सीमित रखना चाहता है। हो सकता है, अपने इमोशन्स को आपसे शेयर न करना चाहता हो। अक्सर पुरूष ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकि वे आपके समक्ष स्वयं को कमजोर साबित नहीं करना चाहते। ऐसे में उन्हें बाध्य न करें।

आपका ईगो हर्ट न हो:- जब आप कोई नई डे्रस पहनती हैं तो डे्रस के बारे में उसके विचार जानना चाहती हैं तो शायद उसका उत्तर पॉजिटिव ही होता है भले ही वह डे्रस आप पर अच्छी न लग रही हो पर उनका जवाब होता है, 'बहुत सुंदर'।

मनोवैज्ञानिकों के मुताबिक वे नहीं चाहते कि वास्तविकता सुनकर आप दुखी हों। ऐसा नहीं कि उन्हें आपकी परवाह नहीं या फिर वे आपसे प्यार नहीं करते और उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता, आप कैसी भी लगें ।

झूठी तारीफ करने का मतलब यही होता कि वे आपको दुखी नहीं करना चाहते। आपसी संबंध अच्छे बने रहें, इसलिए वे इस तरह के छोटे-मोटे झूठ आपसे बोलते हैं। इनकी गहराई में न ही जाएं तो बेहतर है।

- उषा जैन शीरीं

Share it
Top