आपकी मुस्कान भी बन सकती है आपकी खूबसूरती

आपकी मुस्कान भी बन सकती है आपकी खूबसूरती

आजकल खूबसूरत दिखने के लिए युवतियां क्या-क्या नहीं करती। पैरों से लेकर बालों तक खुद को सुन्दर दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ती। यहां तक कि टी. वी और समाचार-पत्र भी ब्यूटी टिप्स के साधन बन चुके हैं। इतना सब करने के बाद भी कई बार यह श्रृंगार फीका पड़ जाता है। क्या कभी अपने सोचा है कि ऐसा क्यों होता है? जी हां, एक मुस्कान ही है जो आपके सौंदर्य में चार चांद लगा सकती है। इसी विषय पर अपने युवा दोस्तों से बात करने पर ज्ञात हुआ कि बेवजह मुस्कान गंवारपन की निशानी है। शायद आप में से बहुत लोगों की सोच भी यही होगी। इसमें कसूर मेरा या आपका नहीं बल्कि उस जीवनशैली का है जिसे हम अपनी मानते हैं। हम वास्तविकता से अलग किसी अन्य जीवन में जी रहे हैं। अगर मुस्कान में गंवारपन है तो क्या हर घड़ी चेहरे पर नकली भाव लाना वास्तविकता है? कुछ दिनों पहले पंजाब जाने का मौका मिला। पंजाबी पत्रिका के बाहर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा था 'हंसना एक कला है।' शीर्षक दिलचस्प लगा परन्तु इसे पढऩे के उपरान्त खुद पर लागू करने का बहुत फायदा भी हुआ। शायद उसी दिन इस पर लिखने का निर्णय किया। रंग गोरा हो या काला, मेकअप किया हो या नहीं, इतना फर्क नहीं पड़ता किंतु एक छोटी सी मुस्कान व्यक्ति की अच्छी पहचान बना सकती है। पहनावा और फैशन बदलते हैं और बदलते रहेंगे पर जो मुस्कान का सदाबहार फैशन उपर वाले ने हमें दिया है, उसे बेकार न समझिए। आप भी इसे आजमाएं। यह अपना प्रभाव अवश्य ही दिखाएगी।

- बलविन्दर कौर

Share it
Top