हाई हील्स: परेशानी से बचने के लिए

हाई हील्स: परेशानी से बचने के लिए

हाई हील्स व्यक्तित्व को चार चांद लगाती हैं। चाहे बाद में उससे होने वाली परेशानियों को भी सब जानते हैं फिर भी कुछ ड्रेसेज का ग्रेस हाई हील से ही आता है। साड़ी, लहंगा पहना हो और साथ में हाई हील हो तो बात बन जाती है।

बहुत सी महिलाएं हाई हील्स पहनने से घबराती हैं। उन्हें लगता है कि शायद उसे ढंग से कैरी नहीं कर पाएंगी और गिर भी सकती हैं। घबराइए नहीं, आत्म विश्वास रखिए आप भी खूबसूरती से हील्स को कैरी कर सकती हैं। बस आवश्यकता है कुछ प्रैक्टिस की। तो ध्यान दें कुछ बातों पर -

- सबसे पहले हील्स वाली चप्पल खरीदें और घर पर पहन कर उस पर खड़े रहने का अभ्यास करें, फिर धीरे-धीरे कुछ कदम चलें। यह सब आप बड़े शीशे के सामने कर सकती हैं। जहां लगे कदम गलत पड़ रहा है, उसे ठीक कर पुन: चलें।

-हाई हील खरीदते समय उसकी फिटिंग पर विशेष ध्यान दें। अगर फुटवियर थोड़ा तंग है या थोड़ा खुला तो चलने में आप लडख़ड़ा सकती हैं। फुटवियर का सही नाप और फिटिंग का होना अति आवश्यक है।

- हाई हील पहनने की शुरूआत कर रही हैं तो आप स्ट्रेप वाली सैंडिल लें ताकि उन्हें बांध कर आप अपना बैलेंस ठीक रख सकें। स्ट्रैप को ठीक ढंग से बांधे।

- हील खरीदते समय उसकी हील हिलाकर कर देख लें, कहीं वह ढीली न हो। बहुत सारे स्ट्रैप्स और अटैचमेंट वाली हील न खरीदें क्योंकि उन्हें पहनकर चलने में परेशानी हो सकती है? अधिक आरामदेह हील के लिए फ्लेटफार्म हील ही पहनें। इससे पैर को आराम रहता है। थकान भी कम होती है और पैर मुडऩे का खतरा भी कम रहता है।

- शुरूआत में पेंसिल हील न पहनें क्योंकि बैलेंस बनाना मुश्किल होगा।

- हील पहन कर सीढिय़ां चढ़ते और उतरते समय हैंडरेल का प्रयोग करें ताकि बैलेंस बना रहे। बहुत तेजी से सीढ़ी न तो चढ़ें, न उतरें।

- नीतू गुप्ता

Share it
Top