ऐसे करें सफेद वस्त्रों की धुलाई

ऐसे करें सफेद वस्त्रों की धुलाई

सौम्यता और सादगी के प्रतीक सफेद कपड़े व्यक्तित्व का अनूठा प्रभाव छोड़ते हैं। इन की सादगी और नाजुकता इस हद तक होती है कि कहीं कोई रंग इन से छुआ नहीं कि सारी सौम्यता भद्दी हो जाती है। आपने टी. वी. पर वह विज्ञापन देखा ही होगा जिस में एक महिला दूसरी महिला की सफेद साड़ी को देख कर ईर्ष्यावश सोचती है कि उस की साड़ी मेरी साड़ी से अधिक सफेद क्यों?

यदि आप भी चाहती हैं कि आप के एवं आप के पति व बच्चों के वस्त्र हमेशा झकाझक सफेद दिखें कि दूसरों को ईर्ष्या होने लगे तो इस के लिए सफेद वस्त्रों को धोते समय निम्न बातों का खास ध्यान रखें-

- सफेद वस्त्रों को कभी रंगीन वस्त्रों के साथ मिला कर न धोएं।

- यदि कपड़े पर कोई दाग लग गया हो तो पहले उसे साफ करें, फिर कपड़े को धोएं अन्यथा कपड़े पर लगा दाग फैल कर उस की सफेदी को प्रभावित करेगा।

- सफेद वस्त्रों को धोने के लिए खारे पानी का प्रयोग न करें अन्यथा उन में पीलापन आ जाएगा।

- सफेद वस्त्रों में नियमित रूप से नील लगाएं एवं तेज धूप में उल्टा कर के सुखाएं।

- कपड़ों में नील लगाने का उचित तरीका यह है कि इसे एक महीन सूती कपड़े की पोटली में रख कर पानी में हाथ को घुमाते हुए घोलें। फिर कपड़े को पूरा खोल कर उल्टा कर के पानी में डाल कर खंगालें।

- नील लगे वस्त्रों को कस कर न निचोड़ें बल्कि आहिस्ता से हाथों के बीच दबा कर पानी निकालें।

- सफेद सलवार, कुरता, साड़ी ब्लाउज, पैंट शर्ट आदि को एक साथ ही नील दें ताकि उनकी सफेदी में भिन्नता न दिखे।

- यदि कपड़ों में अधिक पीलापन हो तो उन्हें धोने के बाद आधा बाल्टी पानी में 1 चम्मच ब्लीचिंग पाउडर डालें एवं 5 मिनट तक कपड़ों को उस में रहने दें। फिर हल्के हाथों से निचोड़ कर सुखाएं। ध्यान रहे कि कपड़े अधिक समय तक उस घोल में न रहें अन्यथा उन में ढीलापन आ सकता है।

- सफेद कपड़ों को साफ पानी में धोने के बाद 1/2 बाल्टी पानी में 1 नींबू का रस, 1 चम्मच मीठा सोडा अथवा फिटकरी पाउडर मिलाएं एवं उसमें 5 मिनट तक कपड़ों को रहने दें, फिर सुखाएं। कपड़े एकदम नए जैसे चमक उठेंगे।

- सफेद रेशमी वस्त्रों की चमक एवं सफेदी बनाए रखने के लिए 1/2 बाल्टी पानी में 2 चम्मच नींबू का रस, अथवा एक चम्मच सिरका एवं थोड़ा तरल नील मिला कर उस में कपड़ों को 5 मिनट तक रहने दें। बाद में हल्के से निचोड़ कर सुखाएं।

- ऊनी वस्त्रों की सफेदी बरकरार रखने के लिए ईज़ी जैसे तरल डिटर्जेंट से धोने के बाद किसी अच्छे तरल नील से धोएं।

बरसात में सफेद कपड़े कम से कम पहनें क्योंकि इस मौसम में कीचड़ के दाग लग जाते हैं जो बड़ी मुश्किल से साफ होते हैं। कीचड़ के दाग को छुड़ाने के लिए उस पर कच्चा प्याज का रस अथवा कच्चा आलू रगड़े, फिर धोएं।

- कर्मवीर अनुरागी

Share it
Top