हाथों की कोमलता से होती है व्यक्तित्व की पहचान

हाथों की कोमलता से होती है व्यक्तित्व की पहचान

प्रत्येक महिला के लिए हाथों की देखभाल अत्यन्त जरूरी होती है। जिन महिला के हाथ जितने ज्यादा कोमल और मुलायम होंगे, उसका स्पर्श उतना नाजुक होगा, उस महिला का व्यक्तित्व उतना ही आकर्षक दिखेगा। आप अपनी देखभाल करके उम्र के असर को कुछ हद तक छुपा सकती हैं।

किसी भी महिला की उम्र का अंदाजा उसके हाथ व उसकी गर्दन से लगाया जा सकता है। यदि आपके हाथ खुरदरे व झुर्रियों वाले तथा नसें दिखते हुए होंगे तो आप कम उम्र की होकर भी उम्रदराज नजर आएगी। अत: हाथों की नियमित देखभाल बहुत जरूरी है।

हफ्ते में एक बार मेनीक्योर अवश्य करें। इसमें पहले नाखूनों को सही आकार देकर या काटकर उन्हें सही स्थिति में लाइए, फिर शैंपू के पानी में थोड़ी देर हाथों को रखकर नेल ब्रश से अच्छे से नाखूनों व हाथों को साफ करें। डेड स्किन व क्यूटिकल आदि अच्छे से निकाल दें। उसके बाद किसी अच्छी क्रीम या बादाम के तेल से हाथों की अच्छी तरह मालिश करें। नाखूनों की भी अच्छी तरह से मालिश करें।

दोनों हाथों में कम-से-कम दस मिनट मालिश करके हाथों की हल्की एक्सरसाइज करें। हाथों को कलाइयों से दस-दस बार गोल घुमाएं। पहले क्लाकवाइस, फिर एंटी क्लाकवाइस, फिर अंगुलियों को धीरे-धीरे खींचें। इससे अंगुलियों व हाथों की झुर्रियां कम होगी। प्रतिदिन काम करने के बाद एक चम्मच शक्कर लें, उसमें आधा नींबू का रस डाल दें। दोनों हथेलियों को विपरीत दिशा में रखकर तब तक रगड़ें जब तक शक्कर पूरी तरह घुल न जाए। इस घुली शक्कर से हाथों की अच्छी तरह मालिश करके गुनगुने पानी से से धो ले। फिर माश्चराइजर या हैंड एंड बाडी लोशन लगा लें। कपड़े धोते समय, बरतन साफ करते समय या बगीचे में काम करते समय हैण्ड ग्लव्ज पहन कर काम करने की आदत डालें। इस तरह थोड़ी सी देखभाल से आपके हाथ नर्म व मुलायम बने रहेंगे तथा आपके व्यक्तित्व में निखार लाएंगे।

- नर्मदेश्वर प्रसाद चौधरी

Share it
Top