बालों को चाहिए उचित देखभाल

बालों को चाहिए उचित देखभाल

बालों का झडऩा आज के प्रदूषण भरे वातावरण में एक आम बात है। बालों का झडऩा प्राकृतिक है पर जब इनकी संख्या बढऩे लगती है तो विशेष देखभाल की जरूरत होगी ही। बालों के अधिक झडऩे के पीछे कई कारण हो सकते हैं जैसे कोई बीमारी, गर्भावस्था के समय, रजोनिवृत्ति के समय, डैंड्रफ, दवाइयों का प्रभाव और पौष्टिक भोजन का अभाव आदि। इन कारणों को ध्यान में रखते हुए इनकी देखभाल करनी चाहिए और अनावश्यक इलेक्ट्रिक ट्रीटमेंट नहीं करानी चाहिए। बालों का रंग जीन पर भी निर्भर करता है और उनका घुंघराला या सीधा होना भी एक प्राकृतिक देन है। आज सौंदर्य के क्षेत्र में ऐसी कई खोजें हो चुकी हैं, जिससे न केवल बालों का रंग बदला जा सकता है बल्कि घुंघराले बालों को सीधा व सीधे बालों को पर्मिंग द्वारा घुंघराला बनाया जा सकता है परन्तु यह सब अस्थायी है और इनका बालों पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है इसलिए इन्हें कम से कम कराएं। बालों की सही देखभाल के लिए निम्न बातों को ध्यान में रखें:-

- यह तो हम सब जानते हैं कि बाल प्रोटीन (केरोटिन) निर्मित होते हैं इसलिए चाहे कोई भी उम्र क्यों न हो, अपने भोजन में प्रोटीनयुक्त पदार्थों की मात्र बढ़ानी चाहिए। मीट, चिकन, मछली, अंडे, दूध, पनीर व दालें प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं, इसलिए इनका सेवन करें।

- बालों को हमेशा साफ रखें। प्राय: लोगों में यह धारणा है कि अधिक बार बाल धोने से बाल खराब हो जाते हैं। ऐसी धारणा बिलकुल गलत है। बाल गन्दे रहने पर बालों में रूसी, जुएं आदि अनेक समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं इसलिए सप्ताह में 2-3 बार बाल अवश्य साफ करें। तैलीय बाल जल्दी गन्दे हो जाते हैं इसलिए इन्हें अधिक बार भी साफ करना पड़े तो बालों को नुकसान नहीं पहुंचता।

- बाल धोने से 2 घंटे पूर्व किसी तेल से बालों की अच्छी तरह मालिश करें। तेल को बालों की जड़ों पर अच्छी तरह से लगाएं। इससे बाल मजबूत होते हैं और उनका टूटना भी कम होता है।

- बालों की उचित देखभाल के लिए सही ढंग से ब्रशिंग भी आवश्यक हैं। एक अच्छे ब्रश से नियमित 3-4 बार कंघी करें। इससे सिर की खोपड़ी में उपस्थित मिट्टी व गंदगी साफ होती है और रक्त संचार भी बढ़ता है।

- पर्मिंग, ब्लीचिंग और हेयर स्टाइल बनाने में प्रयोग किए गए रसायनों का प्रभाव भी बालों पर पड़ता है। इनका अधिक प्रयोग बालों की जड़ों को कमजोर करता है और बाल पतले व सूखे होकर झड़ जाते हैं। हेयर ड्रायर के अधिक प्रयोग से भी बालों का टूटना देखा जा सकता है।

- डैंड्रफ के कारण भी बाल झड़ते हैं, इसलिए डैंड्रफ को दूर करने के लिए विशेष शैम्पू का प्रयोग करें और आवश्यकता पडऩे पर डॉक्टर से भी सलाह लें क्योंकि डैंड्रफ का कारण बैक्टीरिया इन्फेक्शन भी हो सकता है।

- बालों को सूर्य की हानिकारक किरणों से भी बचाएं क्योंकि ये बालों को रूखा करती हैं और बाल कमजोर होते हैं। इसलिए धूप में बाहर जाते समय बालों को स्कार्फ या छाते से ढकें।

- बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का प्रयोग न करें और अगर कभी जल्दी सुखाने की मजबूरी हो तो हेयर ड्रायर को कूलेस्ट सेंटिग पर सेट करें क्योंकि हेयर ड्रायर की गर्म हवा बालों को रूखा बना देती है। ड्रायर को बहुत देर तक एक ही स्थान पर न रखें, नहीं तो गर्म हवा उस स्थान के बालों को अधिक नुकसान पहुंचा सकती है।

- शैम्पू के पश्चात् बालों की कंडीशनिंग करना न भूलें। शैम्पू या साबुन के प्रयोग से बालों की नमी समाप्त हो जाती है। कंडीशनर बालों की खोई हुई चमक व नमी को लौटाता है। कंडीशनर लंबे बालों के लिए तो बहुत अच्छा है क्योंकि बाल जैसे-जैसे बढ़ते हैं, नीचे से रूखे हो जाते हैं और कंडीशनर उस रूखेपन को दूर कर बालों में चमक लाता है।

- बालों को साफ रखने के साथ-साथ बालों पर प्रयोग की जाने वाली कंघी या ब्रश की भी नियमित सफाई करें।

- सोनी मल्होत्रा

Share it
Top