बनाये रखें कपड़ों की चमक

बनाये रखें कपड़ों की चमक

कपड़े व्यक्तित्व को निखारते हैं। यदि हम उनकी सही देखभाल नहीं करेंगे तो उनकी चमक समाप्त हो जाएगी और उसका प्रभाव हमारे व्यक्तित्व की चमक को कम करेगा। इसलिए हमारा कर्तव्य बनता है कि हम इनकी चमक बनाए रखें जिससे हमारा व्यक्तित्व भी खिला-खिला रह सके।

- सफेद कपड़ों को अलग से धोएं। उनकी सफेदी बरकरार रखने के लिए पानी में एक चम्मच सिरका डालें या उजाला (नील) में धोने के बाद आधा घंटा भिगोकर रखें।

- सफेद कपड़ों में नील अलग से न लगाएं। वाशिंग पॉउडर के साथ थोड़ा नील भी डाल दें ताकि कपड़ों की सफेदी बनी रहे।

- सफेद रेशमी कपड़ों को छाया में सुखाएं। इससे वे पीले नहीं पड़ेंगे।

- रंगदार कपड़ों को भी छाया में सुखाएं और धोने से पहले इन्हें नमक वाले पानी में आधा घंटा भिगो कर रखें ताकि उसका अतिरिक्त रंग पहले निकल जाएं।

- जिन कपड़ों के रंग गिरने की शंका हो, उन्हें बाकी वस्त्रों के साथ भिगो कर न रखें। उन्हें अलग धोएं।

- जिन वस्त्रों को हर बार पहनने के बाद नहीं धोया जाता, उन्हें उतारने के बाद हवा लगाकर, ब्रश से साफ कर संभालें। ध्यान रखें कि नर्म ब्रश का प्रयोग करें।

- जो वस्त्र आप कभी-कभी पहनते हैं, उन्हें अलमारी में संभालते समय उनकी जेबें खाली कर बेल्ट आदि निकाल कर रखें ताकि उन कपड़ों की बनावट न बिगड़े।

- रेशमी कपड़ों में कलफ लगाते समय ध्यान रखें कि कपड़ा अधिक कड़क न होने पाए। सूत्री वस्त्रों में कलफ थोड़ा अधिक लगाएं और थोड़ा सा नील उसमें मिला लें ताकि धब्बे न पड़ें।

रंगदार कपड़ों को उल्टा कर कलफ लगाएं।

- सिल्क की या सूती साडिय़ां संभालते समय उन साडिय़ों में कलफ न लगाएं। कलफ लगी साडिय़ों के चिर जाने का डर रहता है।

- सिकुडऩे वाले वस्त्रों में ठंडे पानी में कलफ मिला कर लगाएं।

- रेशमी वस्त्रों को उल्टा कर प्रेस करें ताकि चमक बनी रह सके।

- रेशमी वस्त्रों की धुलाई के बाद पानी में एक चम्मच ग्लिसरीन डालकर उसमें डुबो दें। सूखने पर वस्त्र नये लगेंगे।

- क्रोशिए के स्वेटर या कपड़ों पर प्रेस बहुत हल्की करें, चाहें न भी करें क्योंकि प्रेस करने से धागे खिंच सकते

हैं।

- ऊनी वस्त्रों को धोने से पूर्व नमक के पानी में डुबो दें। फिर उन्हें डिटरजेंट से धोएं। इससे ऊन जुड़ती नहीं है।

- भारी कढ़ाई वाली साडिय़ां संभालते समय उन्हें ड्राइक्लीन करवा कर संभालें तथा मलमल के कपड़े में लपेट कर एक-एक साड़ी रखें ताकि जऱी काली न पड़े।

- जऱी वाले वस्त्रों पर परफ्यूम आदि न लगाएं, जऱी काली पड़ जाएगी।

- ऑरगेंज़ा, चन्देरी तथा पेपर सिल्क वाले वस्त्रों की तह बदलते रहें। लम्बे समय तक एक तह पर लगे रहने से चिरने का डर लगा रहता है। यदि हम कपड़ों की चमक का ध्यान रखेंगे तो कपड़े हमारा अधिक समय तक साथ देंगे। महंगाई के युग में संभालकर प्रयोग में लाने में ही समझदारी है।

- नीतू गुप्ता

Share it
Top