क्या आप बोर हो गई हैं ?

क्या आप बोर हो गई हैं ?

सुधा ने स्कूल के समय से ही कत्थक डांस का प्रशिक्षण लिया है। स्कूल कांपिटिशन में भी नृत्य में वह अव्वल रहती थी। अब जब करियर की बात आई, वह चाहती थी घर में ही डांस स्कूल खोले पर पिताजी का मानना था आज कंप्यूटर का जमाना है। कॉलेज के बाद उसने कंप्यूटर कोर्स किया और अब वह कंप्यूटर जॉब करने लगी पर कला की दीवानी सुधा को यह नौकरी रास नहीं आई वह इससे जरा भी संतुष्ट नहीं थी।

रीना गृहिणी है। वह बुटीक चलाती है, जहां ब्लाउज, सलवार सूट बनते हैं। एक ही तरह के डिजाइनों से वह बोर हो गई थी। इसके लिए उसने अलग रास्ता चुना और बच्चों के डिजाइनर कपड़े बनाने शुरू कर दिए। काम में नयापन और विविधता आने से उसे काम और रूचिकर लगने लगा। आइडिया उसके पास थे ही। एक से एक रेडिमेड गारमेंट्स के ऑर्डर उसके पास आने लगे। अब रीना का बुटीक दुगुना चल निकला है और काम में दिलचस्पी भी बढ़ गई है।

एकरसता तोड़ें: दरअसल एक ही काम को लगातार करते रहने से उबाऊपन की स्थिति आती है। आजकल घर के काम से लेकर बुटीक का काम हो या म्यूजिक क्लास का, सब में नए उपकरण, नई सुविधाएं आ गई हैं जिनसे काम सरल और कम समय में हो जाता है। यदि काम में कुछ नया करने की चुनौती नहीं हो, कांपिटिशन नहीं हो, विविधता या नवीनता नहीं हो, तो भी काम में एकरसता आ जाती है। इस एकरसता को तोड़ें। आज हर क्षेत्र में विविधता की भरमार है। अखबार, पत्रिकाएं, इंटरनेट, टीवी इसके लिए अच्छा जरिया है। हर क्षेत्र में नई जानकारी से अपडेट रहें। इससे खुद भी अपने आप से संतुष्ट रहेंगी और कहीं भी घर, ऑफिस में लोगों से बोलने में नहीं हिचकेंगी, आत्मविश्वास में नजर आएंगी। आशावादी बनें, सकारात्मक दृष्टिकोण रखें, नकारात्मक सोच से दूर रहें। हर काम में खुशी महसूस करें।

बोरियत दूर करें: कोई भी काम निपटाने के दृष्टिकोण से नहीं करें। हो सके तो हर एक काम लिखकर सूची बना लें कि किसे प्राथमिकता से पहले पूरा करना है। जो करें, मन से करें, काम भी बेहतर होगा और करने में भी सुकून मिलेगा। ऑफिस में अपने काम से संतुष्ट नहीं हैं तो संभव हो तो अपने सीनियर से बात करके कार्यक्षेत्र बदल लें। आपकी जुबां पर यह होना चाहिए कि मैं अपने काम से खुश हूं और व्यस्त रहती हूं।

हमेशा तनावमुक्त रहें। लोगों से मेलजोल बढ़ाएं, अपने दोस्त-सहेली से अपनी परेशानी शेयर करें, हो सकता है आपको कोई अच्छा समाधान मिल जाए।

गृहणियां घर की सजावट में बदलाव करके नया लुक दे सकती हैं, नए व्यंजन बनाकर खिला सकती हैं। अपनी रूचि की किताबें पढ़ें। नियमित व्यायाम या वॉक करें। इससे दिनभर शरीर में चुस्ती-फुर्ती बनी रहेगी।

- नरेन्द्र देवांगन

Share it
Top