बालों के रोग व उनका निराकरण

बालों के रोग व उनका निराकरण

शारीरिक कमजोरी, मस्तिष्क की दुर्बलता तथा मानसिक अशांति आदि कारणों से बाल असमय में सफेद होने लगते हैं। झडऩे लगते हैं, बालों में रूसी या डैंड्रफ हो जाते हैं। वैद्यों तथा हफीमों का कहना है कि सिर पर नजला उतरने के कारण बाल या तो सफेद पडऩे लगते हैें या झडऩे लगते हैं। बालों का झडऩा या असमय सफेद होना वंश परंपरागत भी होता है।

नीचे कुछ नुस्खे दिए जा रहे हैं जिनका इस्तेमाल करके बालों की कई समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।,

- नीम के पत्तों को पानी में अच्छी तरह उबालें। उसमें एक चम्मच नमक डालकर मिला लें। इस पानी से सिर धोएं। यह प्रयोग लगातार कुछ दिन करते रहने से बालों का झडऩा बंद हो जाता है तथा बाल काले बने रहते हैं। थोड़े से मेंहदी के पत्तों को नारियल के तेल में पकाकर पीस लें। अब उसमें नींबू का रस तथा जरा सा पिसा आंवला मिलाकर इसे बालों में लगा लें। एक घंटे बाद बालों को धो लें। कुछ दिनों तक बालों में लगाने से बालों का गिरना बंद हो जाता है।

- बालों में प्याज का रस लगाने से भी लाभ मिलता है। बालों में एक घंटे तक प्याज का रस लगा रहने दें, जब रस सूख जाय तो बालों को धो लें।

- हल्का गुनगुने पानी से सिर धोएं। जब बाल सूखने लगे तो नारियल का तेल गुनगुना करके बालों में लगाएं तथा बड़े दांतों वाले कंघे से धीरे धीरे बालों में कंघी करें। इससे बालों का झडऩा बंद हो जाएगा।

बालों को हमेशा सूती और हल्के तौलिये से पोछें।

- संगीता पाल

रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध, ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप]

Share it
Top