सर्दी के मौसम में कैसे सुन्दरता को बनाये रखें

सर्दी के मौसम में कैसे सुन्दरता को बनाये रखें

सर्दी के मौसम में सुंदरता को बरकरार रखने के लिए थोड़ी सावधानी जरूरी है। बढ़ती ठंड त्वचा के लिए हानिकारक होती है। इस मौसम में चेहरे की त्वचा की देखभाल सावधानी पूर्वक नियमित करनी चाहिए। इसके लिए निम्न बातों का ध्यान रखें।

चेहरे के लिए:

- चेहरे को साबुन से न धोयें। यदि धोयें तो ग्लिसरीनयुक्त साबुन से धोयें।

- रूखी त्वचा के लिए पन्द्रह दिनों में एक बार भाप जरूर लें। भाप लेने के पश्चात बर्फ के पानी से खूब छींटे मारें, फिर कोई अच्छा सा फेसपैक लगायें। [रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध,ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप]

- फेस पैक निम्न प्रकार से तैयार करें।

1. अण्डे की सफेदी में नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगायें।

2. मुल्तानी मिट्टी, चंदन पाउडर में गुलाब जल और नींबू के रस की दो चार बूंदे डालकर पेस्ट बनायें।

3. दही, बेसन, हल्दी, नींबू के रस इन सभी को मिलाकर चेहरे पर लगायें। हल्की रगड़ के साथ छुड़ा लें।

4. गेहूं या जौ के आटे में सरसों का तेल, हल्दी और पानी मिलाकर पेस्ट बनायें। इसे चेहरे के अतिरिक्त पूरे शरीर पर लगा सकते हैं।

इसी प्रकार प्राकृतिक चीजों से भी फेस पैक तैयार कर सकते हैं। इस फेस पैक की खासियत यह होती है कि इससे त्वचा को कोई नुकसान नहीं पहुंचता। नियमित इस्तेमान से चेहरा आकर्षक एवं कांतिवान लगने लगता है।

बालों के लिये: बालों को सप्ताह में दो बार धोयें। अच्छा शैम्पू ही प्रयोग में लाये। शैम्पू लगाने के बाद बालों को अच्छी तरह स्वत: ही सूखने दें।

सर्द मौसम में बालों के प्रति लापरवाही कदापि न बरतें। खान-पान पर विशेष ध्यान दें।

इसके अलावा, बालों की जड़ों में गुनगुना नारियल तेल लगाकर पांच मिनट मालिश करें। फिर तौलिये को गरम पानी में भिगो कर निचोड़ लें। [रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध,ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप]

इसे सिर में लपेट लें ताकि तेल बालों की जड़ों तक पहुंच जाए और उन्हें मजबूती प्रदान करे। इसके साथ ही भाप बालों में रक्त संचार बढ़ाती है। दिमाग को ठण्डक मिलती है।

बालों में धोने से पूर्व, मेहंदी, दही व अण्डे का घोल लगायें। बाल काले, मजबूत एवं घने होंगे।

पैरों के लिए: अधिकतर महिलाएं अपने चेहरे की तरफ अधिक ध्यान देती हैं और पैरों को अनदेखा कर देती है जबकि पूरे शरीर का दारोमदार पैरों पर ही होता है।

पैरों को गुनगुने पानी में कुछ देर डुबोकर रखें। फिर कड़े ब्रश या झांबे से एडिय़ों और पैर की अन्य फटी जगहों को साफ करें। साफ करने के पश्चात सरसों के तेल में हल्दी, मिलाकर कटे फटे स्थानों पर लगायें। मोम को पिघलाकर भी कटे हुए भागों में लगाया जाता सकता है।

पैरों के नाखूनों को नींबू के छिलकों से साफ करें। नेलकटर से नाखून को सही शेप देकर मनपसंद नेल पालिश लगायें।

नियमित देखभाल से पैरों की सुन्दरता बढ़ जायेगी।

यूं तो हर मौसम में शरीर की देखभाल अत्यंत जरूरी है, फिर भी सर्दियों के इस मौसम में कछ ज्यादा ही देखभाल करनी चाहिए। अपने शरीर की सफाई पर विशेष ध्यान दीजिए। आपका सौन्दर्य हमेशा बरकरार रहेगा। आपका व्यक्तित्व पहले से कहीं अधिक निखरा-निखरा नजर आयेगा।

- सुमित्र यादव

[रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध,ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप]

Share it
Top