हमारा चेहरा भी देता है बीमारियों का संकेत

हमारा चेहरा भी देता है बीमारियों का संकेत

कहते हैं कि हमारा चेहरा न सिर्फ हमारे मन में उमड़ते भावों को बयां करता है बल्कि यह शरीर के स्वस्थ न होने के बारे में भी बहुत कुछ संकेत देता है जिसे अक्सर हमारे डाक्टर्स भली-भांति समझ लेते हैं। शायद यही वजह रही होगी कि प्राय: डाक्टर अपने मरीजों का चेहरा देखकर ही उनकी सेहत का हाल उनके बिना बताये ही जान लेते हैं, इसीलिए यदि आप भी जब कभी बेहद दुखी या किसी तरह कि शारीरिक या मानसिक बीमारी से परेशान हो तो तुरंत अपने घर में लगे शीशे के सम्मुख खड़े हो जाएं और अपने चेहरे को बड़ी गौर से निहारें और जानने कि कोशिश करें कि आखिरकार यह क्या कहता है आपकी सेहत के बारे में ? यकीनन आप खुद ही अपनी बीमारी के विषय में अच्छी तरह से जान जाएंगे।

शरीर स्वस्थ न होने पर चेहरा देता है ये संकेत:-

बाल:- देखने में आता है कि अधिकांश लोग हमेशा अपने झड़ते बालों की समस्या को लेकर बेहद परेशान रहते हैं परंतु यदि सिर के बालों के साथ-साथ आपकी आइब्रो और पलकों के बाल भी झडऩे लगे हैं तो सावधान हो जाएं। और इसे बिलकुल नजरअंदाज नहीं करें क्योंकि हेल्थ एक्सपटर्स की राय में ऐसा होना अधिक तनाव या आटोइम्यून बीमारी के लक्षण को दर्शाता है।

माथा:- डाक्टरों का कहना है कि यह हमारे नर्वस सिस्टम तथा पाचनतंत्र से जुड़ा होने के कारण किसी भी प्रकार के स्ट्रेस या पाचनक्रिया में होने वाली गड़बड़ी को सीधा हमारे माथे पर आड़ी रेखाओं या पिंपल्स के रूप में दिखाता है। रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

आंखें:- अरसे से कहा जाता है कि आँखें भी होती हैं दिल की जुबां जबकि डाक्टरी भाषा में आंखों की पुतली अगर सिकुड़ रही है, तो इसे जोड़ों की समस्याओं के रूप में देखा जाता हैं, वहीं अगर इसमें सफेद धब्बे दिखलाई देने लगते हैं तो शरीर में विटामिन्स की कमी बताया जाता है। पुतली के अगल-बगल में सफेद रिंग दिखाई दें तो ब्लड शुगर और कोलेस्ट्राल बढऩे का संकेत देता है। आंखें लाल होने पर डिप्रेशन और पीले होने पर लिवर की बीमारी की ओर इशारा करती हैं। आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स नींद पूरी न होना, खून में आयरन की कमी, किडनी में गड़बड़ी इत्यादि को दिखाते हैं।

गाल:- हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, गालों का रंग उडऩा या फिर गालों के पैची नजर आने का कारण मेटाबालिज्म का धीमा होना अथवा फालिक एसिड और आयरन जैसे पोषक तत्वों की कमी को बताता है।

नाक:- ईएनटी विशेषज्ञ कहते हैं कि यदि लगातार नाक बह रही है, तो यह दिल संबंधी, उच्च रक्तचाप या लिवर डैमेज जैसी बीमारियों की ओर इशारा करते हैं। रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

जीभ:- जीभ पर अधिकाधिक सफेद धब्बों का होना शरीर में टाक्सिन की मात्रा बढऩे का संकेत देता है।

होंठ:- जब आपके गुलाब की पंखुडिय़ों की तरह खिले होंठ रूखे-सूखे हो जाते हैं तो यह डिहाइड्रेशन, विटामिन बी की कमी या फिर आयरन की कमी का संकेत देने लगते हैं । इसलिए जब भी कभी आपके गुलाबी होंठ पीले पडऩे लगें तो समझ लें कि यह शरीर में खून की कमी को इंगित कर रहा है जबकि कभी-कभी होंठों के फटने का कारण किसी तरह की एलर्जी का होना या फिर कास्मेटिक प्रोडक्ट्स के साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं।

मुंह:- कई लोग अक्सर अपनी सांसों की बदबू को लेकर बेहद चिंतित रहते हैं तो अधिकांश आहार चिकित्सक इसे खराब पेट, अपच या फिर लिवर की बीमारी से ग्रसित होना बताते हैं। मुंह में बार-बार छाले होना रोगप्रतिरोधक क्षमता का कम होना तथा शरीर में विटामिन बी की कमी की ओर दर्शाती है। इसके अतिरिक्त यह पाचन क्रिया में उत्पन्न गड़बड़ी की ओर भी इशारा करता है। इस प्रकार हम निष्कर्ष के तौर पर यहां कह सकते हैं कि चेहरा हमारे व्यक्तित्व के साथ-साथ सेहत का भी आईना होता है जिसे देखकर अक्सर पहचाना जा सकता है कि व्यक्ति कितना स्वस्थ है।

- अनूप मिश्रा

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top