सब औरतें एक जैसी होती हैं

सब औरतें एक जैसी होती हैं

वैसे तो हर इंसान का अपना स्वभाव और अपनी आदतें होती हैं। फिर भी कुछ आदतें ऐसी होती हैं जो एक दूसरे से मेल खाती हैं। कुछ ऐसी आदतें हैं जो अधिकांश औरतों में मिलती जुलती हैं। ये कुछ इस प्रकार हैं:-

- ज़्यादातर औरतें इस बात का रोना रोती रहती हैं कि वे दिन भर घर-परिवार के लिए मरती रहती हैं पर कोई भी उनकी परवाह नहीं करता। रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

- अधिकतर औरतें अपना गुस्सा और झुंझलाहट बच्चों पर उतारती हैं।

- अधिकतर औरतों की चाहत होती है कि उनके किए कामों की और पकाये खाने की तारीफ हो। उनका हर नया काम सराहा जाये।

- शाम को लौट कर आए पति का टी. वी. देखना या अखबार पत्रिका पढऩा किसी भी औरत को नहीं सुहाता।

- कोई भी औरत अपने मायके की बुराई सहन नहीं कर पाती।

- दूसरों को बिन मांगी सलाह देना दूसरों के घर परिवार के बारे में अधिक से अधिक जानना हर औरत को अच्छा लगता है।

- अधिकांश घरेलू औरतें यह महसूस करती हैं कि उनके पति दफ्तर में मौज मस्ती करते हैं और वे घर में काम में खपती रहती हैं।

- अधिकतर औरतों को सजने-संवरने का शौक होता है।

- क्रोध से कहे पति के दो शब्द उन्हें हमेशा याद रहते हैं पर प्यार में उसने उन्हें क्या क्या कहा, यह भूल जाती हैं।

- औरतें अक्सर गप्पों की शौकीन होती हैं। गप्पों में वे सब अनिवार्य कार्य भूल जाती हैं। यदि पति कोई काम भूल जायें तो पहाड़ लगता है।

- अधिकांश पत्नियों की इच्छा होती है कि पति उनके नैनों की भाषा समझें और बिना कहे उनके मन की बात जान लें।

- अधिकतर औरतें यह नहीं समझ पाती कि उनकी किस बात पर पति का मूड खराब हो जाएगा।

- पड़ोसियों या रिश्तेदारों की चीज़ देखकर अक्सर उनके मन में वैसी या उससे बढिय़ा लेने की इच्छा होती है।

- पत्नियों को यह आम शिकायत रहती है कि उनका पति दूसरी औरतों से जितना हंस-हंस कर बात करता है, इतना उनसे कभी नहीं करता। रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

- हर शादीशुदा औरत जीवन में कभी न कभी यह जरूर सोचती है कि वही है जो उस जैसे पुरूष के साथ निभा रही है।

- हर स्त्री के साथ ऐसा होता है कि चाहे उसके पास कितने गहने और कपड़े क्यों न हों, कहीं जाने पर यह महसूस होता है कि क्या पहनें, उसके पास तो कोई ढंग के वस्त्र हैं ही नहीं।

- कितनी भी बहादुर औरत क्यों न हो, पति के कुछ चिढ़ाने पर उसका मुंह फूल जाता है और रोना शुरू हो जाती है।

- अधिकांश औरतों को ससुराल वाले जाहिल लगते हैं।

- बरसों साथ रहने के बाद भी अक्सर औरतें यह नहीं जान पाती कि आखिर उनका पति उनसे क्या चाहता है?

- अधिकतर औरतों को शिकायत रहती है और वे पति पर आरोप लगाती है कि तुमने मुझे न कभी समझा है, न समझ सकोगे।

- अधिकांश औरतें मायके जाने के नाम पर तुरंत तैयार रहती हैं। तब घर के सब ज़रूरी काम भूल जाती हैं।

- अधिकतर महिलाओं को मायके द्वारा दिया मशविरा उचित लगता है।

- नीतू गुप्ता

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top