न होने दें उदास हमसफर को

न होने दें उदास हमसफर को

वैसे तो हमसफर का उदास होना किसी को भी नहीं भाता पर कभी-कभी कुछ परिस्थितियों में ऐसा हो जाता है जब एक साथी उदास लगता है और होता भी है। ऐसे में दूसरा साथी बेबस और लाचार महसूस करता है। इससे वैवाहिक जीवन पर कुप्रभाव पड़ता है। इस नाज़ुक दौर से बचने के लिए दूसरे साथी को अधिक समझदारी और धैर्य से काम लेना चाहिये।

इसे व्यक्तिगत समस्या समझते हुए अपने तक सीमित न रखें। जिस पर आपको पूर्ण विश्वास हो कि इस मामले में वह आपकी दिल से मदद कर सकता है, उससे अपने दिल की बात कहें। बार-बार झूठ का सहारा लेकर अपने हमसफर को रिश्तेदारों और संबंधियों से न बचायें। इससे उनके साथ संबंधों में कटुता बढ़ सकती है। अपने हमसफर के तनावों का सबके बीच मज़ाक न उड़ायें। ऐसे में अपने किसी नज़दीकी से मदद जरूर लें। कई बार समस्या पर चर्चा करने से हल आसानी से निकल आते हैं।

हमसफर की लगातार उदासी को नजरअंदाज़ न करते हुए किसी अच्छे मनोवैज्ञानिक से संपर्क करें। यदि हमसफर को डॉक्टर के पास जाना अच्छा न लगे तो अधिक ज़ोर जबरदस्ती न करेें। ऐसे में संबंध अधिक खराब होंगे।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

आप स्वयं भी नजऱ रखें कि किन-किन परिस्थितियों के कारण आपका हमसफर उदास हुआ है। उन्हें समझाने का पूरा प्रयास करें कि इस प्रकार का वातावरण आप पर और परिवार पर कितना प्रभाव डालता है। उनसे बात करते समय यह ध्यान रखें कि बार-बार उनकी आलोचना न करें और उन्हें यह महसूस कराएं कि वह आपके लिए कितने करीबी हैं?

- हमसफर की उदासी के साथ-साथ स्वयं भी उदास न रहें। अपनी दिनचर्या नियमित बनाए रखें।

- बाहर जाने में आनाकानी करने पर अपने मित्रों व संबंधियों को घर पर बुलायें ताकि उनका डिप्रेशन और शर्म कम हो सके।

- उदास हमसफर की कमियों को हर वक्त उजागर न करें। उनकी गलत आदतों को लेकर ताने न दें।

- अपनी ओर से ऐसा कोई अवसर न दें कि जिससे उनकी उदासी को बढ़ावा मिले।

- यदि हमसफर कुछ समय हेतु अकेला बैठना चाहता है तो उसे उसके हाल पर छोड़ दें। ज़बरदस्ती स्वयं को उस पर न थोपें पर कुछ नजऱ जरूर रखें। नार्मल होने पर वह स्वयं आपसे बात करेगा।

- उनकी उदासी को कोशिश करने पर भी आप दूर नहीं कर पा रहे हैं तो स्वयं गिल्टी महसूस न करें।

- सुदर्शन चौधरी

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top