सुराहीदार गर्दन के लिए व्यायाम

सुराहीदार गर्दन के लिए व्यायाम

गर्दन को सुन्दर बनाने के लिए व्यायाम अति उपयोगी सिद्ध होता है। अपनी दोनों हाथों की उंगलियां जबड़े के नीचे गरदन पर रखकर, मांसपेशियों पर दबाव डालें व 3 तक गिनती गिनें। इसके बाद उंगलियों को गर्दन के बीच के हिस्से में रखकर दबाव दें व तीन तक गिनें।

फिर गर्दन की बेस में उंगलियों को दबा कर तीन तक गिनें। इस क्रिया को 3-4 बार दोहराएं। ऐसा करते वक्त आपकी गर्दन (बिलकुल सीधी होनी चाहिए। इस प्रकार का व्यायाम नियमित करने से गरदन पर दबाव पड़ता है, खून का दौरा बढ़ता है व मांसपेशियों पर खिंचाव पडऩे से गर्दन लचीली बनती है।

सुरीली आवाज आज के समय की मांग है। आप भी अपनी आवाज को पतली व सुरीली बनाना चाहते हैं तो निम्न व्यायाम को नियमित करें। हाथ के अंगूठे को गले के बीच में रख कर दबाव दें व तीन तक गिनें। फिर उसे ढीला छोड़कर दोबारा दबाएं। इस क्रिया को 5-6 बार दोहराएं। इससे आवाज पतली व साफ होगी।

अगर आप दोहरी ठोड़ी से परेशान हैं तो ठोड़ी के नीचे व जबड़े के बीच अंगूठे का गहराई तक दबाव दें और तीन तक गिनें।

2-3 बार इस क्रिया को दोहराएं। कुछ दिनों के नियमित व्यायाम से आप दोहरी ठोड़ी से निजात पा सकती हैं।

- भाषणा बांसल

Share it
Top