Read latest updates about "लेडीज स्पेशल" - Page 1

  • सुंदरता बढ़ाने में सहायक है बादाम का तेल

    बादाम पौष्टिक व स्वास्थ्यवर्धक माना जाता है। गर्मी व सर्दी, हर मौसम में इसका उपयोग लाभप्रद है। यह कच्चा हो या पका हुआ, हर तरह से इसका सेवन फायदेमंद है। यही नहीं, और भी बहुत लाभ हैं इस मेवाफल के। इसका तेल पौष्टिक होने के साथ-साथ सौंदर्यवर्धक भी है। आइए देखें यह सौंदर्य हेतु किस प्रकार उपयोग में...

  • काम की बातें

    - कोफ्तों को नर्म और स्वादिष्ट बनाने के लिए उनमें एक छोटा चम्मच ब्रेड क्रम्बस व फ्रेश क्रीम मिलाएं। - लहसुन, प्याज काटने के बाद हाथों से आने वाली बदबू को दूर करने के लिए नींबू का छिलका रगड़ें या थोड़ा सा अदरक काटकर उसका रस उंगलियों पर मलें। बदबू दूर हो जाएगी। - भिंडी का लेसलापन खत्म करने के लिए...

  • गर्दन को भी बनाएं खूबसूरत

    आपका चेहरा कितना खूबसूरत क्यों न हो, यदि गर्दन सुंदर और आकर्षक न हुई तो चेहरे का आकर्षण भी फीका पड़ जाएगा। यदि गर्दन पर झुर्रियां और रेखाएं हैं तो लोग समझने लगेंगे ये रेखाएं आयु के चिन्ह हैं। आप वक्त से पहले ही बड़ी आयु की नजर आने लगेंगी। इस दोष को दूर करने के लिए आप जितना चेहरे का ख्याल रखती हैं...

  • सौंदर्य निखारने के घरेलू नुस्खे

    सुंदरता की जब चर्चा होती है तो सबसे पहले त्वचा की सुंदरता की ओर ध्यान दिया जाता है। शादी ब्याह हो या तीज त्योहार, महिलाएं अपनी खूबसूरती निखारना नहीं भूलती और भूलें भी क्यों। आखिर खूबसूरत नजर आना उनका सबसे पहला हक है। तो चलिए बाजार में मिलने वाले कृत्रिम सौंदर्य प्रसाधनों के बजाय कुछ प्राकृतिक घरेलू...

  • बेहतर शादी शुदा जिंदगी के लिये....

    अक्सर देखने और सुनने में आता है कि शादी वो लड्डू है जो खाये वो पछताए, जो न खाये वो भी पछताए। दरअसल प्यार उमंग की वजह से शादी शुदा जिंदगी में कदम रखने वाले जोड़े शादी के बाद की जिम्मेदारियां अच्छी तरह से न निभा पाने की वजह से कुछ ही दिनों में परेशान हो उठते हैं जिस का असर नये शादी शुदा रिश्ते पर...

  • कितने आवश्यक हैं सौंदर्य प्रसाधन

    आज सौंदर्य प्रसाधनों से बाजार इस तरह से भरा पड़ा है कि महिलाएं असमंजस की स्थिति में रहती हैं कि वे क्या खरीदें और क्या नहीं। यही नहीं, पिछले कुछ वर्षों में महिलाएं अपने सौंदर्य को लेकर सजग हो गयी हैं और अपने सौंदर्य में निखार लाने के लिए शायद ही किसी सौंदर्य प्रसाधन का प्रयोग छोड़ती हैं। इसीलिए...

  • घर को सकारात्मकता से रोशन करें

    आप जिन-जिन चीजों से घिरे हुए हैं, वे सब आपको, आपके जीवन को प्रभावित करती हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार आपके घर में रखी चीजें आपके जीवन को प्रभावित करती हैं। वे या तो सकारात्मक प्रभाव डालती हैं या फिर नकारात्मक। नकारात्मक प्रभाव को खत्म करने के लिए बहुत से लोग अलग-अलग तरीके अपनाते हैं। आइए जानें कि...

  • मौन: वार्तालाप की एक अनमोल कला

    सदियों से मानव पर हो रहे शोधों की अनवरत प्रक्रिया में यह पाया जाता रहा है कि 'मौनम् स्वीकार लक्षणम् एवं मौनम् अस्वीकार लक्षणम'। मौन इन दोनों विरोधाभासी परिस्थितियों का परिचायक होता है। बहुधा ऐसी परिस्थिति बन जाती है कि हम मुखर होकर समर्थन करना चाहते हैं किन्तु शर्म, संकोच या मितभाषी होने के कारण...

  • कहीं मुसीबत न बन जाए परपुरूष प्रशंसा

    पुरूष स्वभाव से ही शक्की होते हैं। विवाहित पुरूष पराई स्त्री को घूर कर देख लें, उससे हंसकर बातें कर लें, उसके रंग रूप की प्रशंसा कर ले या उससे शारीरिक सम्पर्क जोड़ ले, तब भी पत्नी पति को छोडऩे की बात नहीं सोच पाती परन्तु पत्नी यदि किसी और पुरूष से हंस बोल ले या उसकी जरा सी प्रशंसा कर दे तो पति झट...

  • घने, खूबसूरत बाल बढ़ाते हैं आपकी फेस वेल्यू

    आपकी फेस वेल्यू बढ़ाने में जहां आपका चेहरा और आपके नैन नक्श महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं, वहीं आपके बाल भी महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं। स्वस्थ घने खूबसूरत बाल आपके चेहरे के सौंदर्य को दुगुना बढ़ा देते हैं, इसलिए बालों को भी उतनी ही देखभाल की जरूरत होती है जितनी आपकी त्वचा को होती है। कई...

  • सब को भाये दुल्हन का श्रृंगार

    एक समय था जब दुल्हनों को एक लंबे से घूंघट में छुपा कर शादी के मंडप में बिठा दिया जाता था। शादी में उपस्थित लोग दुल्हन की एक झलक मात्र को तरसते थे। समय के साथ-साथ शादी करने के ढंग और दुल्हन के श्रृंगार में भी बदलाव आया है। श्रृंगार के प्रति दुल्हनों की सोच समझ में बहुत परिवर्तन आया है। इस का एक...

  • किटी क्लब - फैशन या जरूरत

    आजकल नौकरी-व्यवसाय के सिलसिले में लोगों का घर के बाहर जाना आम हो गया है। पुरूष तो दिन भर काम में व्यस्त रहते हैं और महिलाएं घर में अकेली। ऐसे में महिलाओं के लिए किटी क्लब समय बिताने का अच्छा साधन सिद्ध होते हैं। शहरों में इनकी बाढ़-सी आई हुई है। किटी क्लब से जुडऩा फैशन और प्रतिष्ठा का प्रतीक माना...

Share it
Top