चीन के विद्रोही नेता लिऊ की हालत बेहद गंभीर

चीन के विद्रोही नेता लिऊ की हालत बेहद गंभीर

बीजिंग। चीन के विद्रोही नेता और नोबेल शांति पुरस्कार विजेता लिऊ जियाबो की हालत बहुत ही गंभीर है और उनकी श्वसन प्रणाली ने लगभग काम करना बंद कर दिया है। अस्पताल सूत्रों ने आज यह जानकारी दी।
शेनयांग शहर स्थित अस्पताल के चिकित्सकों ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि श्री लिऊ को लीवर कैंसर है जो अंतिम अवस्था में है । उनके गुर्दों और लीवर ने काम करना बंद कर दिया है और शरीर में रक्त के थक्के बन रहे हैं। चिकित्सकों के अनुसार उनकी हालत गंभीर है और अस्पताल उन्हें बचाने के हर संभव प्रयास कर रहा है। उनके परिजनों ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए किसी भी तरह की उपचार प्रणाली के लिए अपनी सहमति जता दी है। उनकी हालत कल सुबह से ही बिगडऩी शुरू हो गई थी और कईं अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। इस बीच मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और पश्चिमी देशों ने उन्हें विदेश भेजे जाने की मांग की है ताकि उनका बेहतर इलाज हो सके लेकिन चीन सरकार ने किसी भी तरह के हस्तक्षेप पर चेतावनी देते हुए कहा है कि उनका उपचार प्रख्यात चीनी चिकित्सक कर रहे हैं। इस मामले में प्रतिक्रिया करते हुए व्हाइट हाउस की प्रवक्ता साराह सेंड़र्स ने कहा कि श्री लिऊ और उनके परिजन बाहरी विश्व से संपर्क करने में असमर्थ हैं और अपनी पंसद का उपचार नही मिल पा रहा है व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने बताया कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दो जुलाई को टेलीफोन पर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से उनके मामले में बातचीत की थी और अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एच आर मैकास्टर ने पिछले हफ्ते अपने चीनी समकक्ष के सामने यह मुद्दा उठाया था।

Share it
Share it
Share it
Top