कनाडा में दावानल से 14 हजार लोग बेघर

कनाडा में दावानल से 14 हजार लोग बेघर

कैलगरी, अलबर्टा। कनाडा में ब्रिटिश कोलंबिया इलाके में दावानल (जंगल में आग) के कारण लगभग 14 हजार लोगों को अपने घरों को छोडना पड़ा है। अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र में दावानल की दो सौ से ज्यादा घटनाएं हुई है जिसमें से कम से कम दस रिहाइशी इलाके के पास है। आग के कारण 93,900 एकड़ जमीन पूरी तरह तबाह हो गई थी। इससे किसी के हताहत या गंभीर रूप से घायल होने की सूचना नहीं मिली है, लेकिन 14,000 लोगों को अपने घरों को छोडऩे के लिये मजबूर होना पड़ा है। जंगल में भीषण आग ने लकड़ी और खनन उद्योग के कार्यों को बुरी तरह से प्रभावित किया है। आग की चपेट में आने से एक क्षेत्रीय बिजलीघर के उपकरण क्षतिग्रस्त हो गए हैं।
वेस्ट फ्रेजर टींबर कंपनी ने कहा कि हंड्रेड मील हाउस, विलियम्स लेक और चास्म में स्थित कारखानों को अस्थाई तौर पर बंद कर दिया गया है। इन कारखानों की कुल वार्षिक उत्पादन क्षमता 800 मिलियन बोर्ड फीट लकड़ी और 270 मिलियन वर्ग फुट प्लाईवुड की है। उन्होंने कहा, ब्रिटिश कोलंबिया की आंतरिक स्थिति में आग की स्थिति अस्थिर है और स्थिति बिगड़ रही है। वेस्ट फ्रेजर के अलावा कई और कंपनियों ने अपने लकड़ी और खनन से जुड़े कार्यों को निलंबित कर दिया है। प्रांत के मुख्य बिजली वितरक बीसी हाइड्रो और पावर प्राधिकरण ने कहा कि आग की चपेट में आने से 170 से अधिक बिजली खंभे और 29 ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। कंपनी ने और अधिक क्षति होने की आशंका जतायी है। शुक्रवार को ब्रिटिश कोलंबिया ने आपात स्थिति घोषित की और आग से निपटने के लिये सप्ताहांत में करीब 16 सौ कर्मचारियों को तैनात किया गया है। 2003 के बाद यहां पहली बार आपात स्थिति की घोषणा की गयी है।

Share it
Top