संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय बाल आपात कोष ने चेताया....भुखमरी से 70 लाख बच्चे प्रभावित

संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय बाल आपात कोष ने चेताया....भुखमरी से 70 लाख बच्चे प्रभावित

सना। संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय बाल आपात कोष (यूनीसेफ) ने चेतावनी दी है कि यमन में 7० लाख से भी अधिक बच्चे गंभीर भुखमरी का सामना कर रहे हैं और 2०15 से अब तक छह हजार बच्चे मारे जा चुके हैं या गंभीर रूप से परेशान हैं।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

यमन की न्यूज एजेंसी सबा के मुताबिक सऊदी की अगुवाई वाले युद्ध ने देश में बुनियादी ढांचे को प्रभावित किया और अस्पतालों, स्कूलों और कारखानों को नष्ट कर रहा है और अब तक 56,००० यमन नागरिक मारे गये हैं। संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि दो करोड़ 22 लाख यमनी नागरिकों को भोजन की सख्त जरूरत है, जिसमें 84 लाख लोगों के गंभीर भुखमरी के शिकार होने की चेतावनी दी गयी है। यमन 1०० वर्षों के सबसे बड़े अकाल से गुजर रहा है। यूनिसेफ के मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका के क्षेत्रीय निदेशक गीर्ट कैप्लेरे का कहना है कि यमन में भुखमरी के चलते 1०,००० से अधिक लोग मारे गए हैं और एक करोड़ 4० लाख से अधिक लोगों में आधे से ज्यादा बच्चे और इसके अतिरिक्त एक लाख बच्चे खाने को लेकर असुरक्षित हैं। परिवारों को सामान्य खाने और उपचार की खातिर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा की यमन की दो तिहाई (64.5 प्रतिशत) से अधिक जनसंख्या को नहीं पता की अगले वक्त का खाना कहां से आयेगा।

Share it
Top