जासूसी के दोषी अमेरिकी छात्र को 10 वर्ष कैद की सजा

जासूसी के दोषी अमेरिकी छात्र को 10 वर्ष कैद की सजा

दुबई। ईरान की एक अदालत ने ङ्क्षप्रसटन विश्वविद्यालय के स्नातक के एक छात्र को जासूसी करने के जुर्म में 10 वर्ष की कैद की सजा सुनायी है।
ईरान के न्यायिक प्रवक्ता घोलामोहसिन मोहसेनी एजी ने आज आधिकारिक समाचार साइट'मिजान'को बताया कि शियु वांग (37) पर शोध की आड़ में जासूसी करने का आरोप है। वांग चीनी मूल का अमेरिकी नागरिक है। प्रवक्ता ने सरकारी टेलीविजन पर कहा, अमेरिका के निर्देश पर जानकारियां जुटा रहे इस व्यक्ति को 10 वर्ष की कैद की सजा सुनायी गयी है, लेकिन इस सजा के खिलाफ अपील की जा सकती है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने ईरान पर आरोप लगाया कि वह अमेरिकी तथा अन्य विदेशी नागरिकों को हिरासत में लेने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े झूठे आरोप लगा रहा है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा, हम ईरान में अवैध तरीके से हिरासत में लिये गये सभी अमेरिकी नागरिकों की रिहाई की मांग करते हैं ताकि वे अपने घर लौट सके। सभी अमेरिकी नागरिक, खास तौर पर दोहरी नागरिकता वाले लोग ईरान की यात्रा से पहले हमारी यात्रा चेतावनी जरूर पढ़ लें।

Share it
Share it
Share it
Top