चीन-दक्षिण एशिया एक्सपो, सहयोग मंच का शुभारंभ

चीन-दक्षिण एशिया एक्सपो, सहयोग मंच का शुभारंभ

कुनमिंग (चीन)। चीन के युन्नान प्रांत में दक्षिण एशियाई एवं दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के व्यापार मेले तथा पहले चीन-दक्षिण सहयोग मंच का आज यहां शुभारंभ हुआ। चीन के उपप्रधानमंत्री हू चुनहुआ ने अफगानिस्तान, म्यांमार, थाईलैंड और लाओस के साथ विशाल कुनमिंग अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन केन्द्र में पांचवे चीन-दक्षिण एशिया एक्सपो, 25वें चीन कुनमिंग आयात एवं निर्यात मेले का आज शुभारंभ किया और पहले चीन-दक्षिण एशिया सहयोग मंच के शुभारंभ की घोषणा की। ये मेले 20 जून तक चलेंगे। दुनिया के 80 देशों के कारोबारी प्रतिनिधियों की मौजूदगी में आयोजित उद्घाटन समारोह में श्री हू चुनहुआ ने कहा कि चीन और दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्वी एशिया के बीच ऐतिहासिक काल के संबंध हैं। रेशम मार्ग से इन क्षेत्रों के साथ चीन के मजबूत कारोबारी और मधुर सांस्कृतिक संबंध रहे हैं। उन्होंने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बेल्ट एंड रोड पहल (बीआरआई) को गति देने में योगदान की अपील करते हुए कहा कि चीन तथा दक्षिण और दक्षिण-पूर्वी एशिया के देशों की कुल आबादी करीब तीन अरब है जो विश्व की आबादी की लगभग आधी है। उन्होंने कहा कि इस आबादी के सामने आर्थिक प्रगति के मार्ग में बाधायें आ रहीं हैं। हमें संरक्षणवाद सहित विभिन्न चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि चीन इस चुनौती का सामना करने को तैयार है। उसका मानना है कि बीआरआई परियोजना में परस्पर विश्वास केे सहारे समृद्धि आयेगी। उन्होंने कहा कि इसके लिए राजनीतिक परिपक्वता की जरूरत है। यह परियोजना क्षेत्र के सभी देशों को एक सूत्र में पिरोयेगी। उन्होंने कहा कि कई देशों के साथ द्विपक्षीय व्यापार समझौते किये गये हैं जबकि कुछ के साथ दोहरे कराधान से बचाव के करार किये गये हैं। इस प्रकार से बीआरआई को सुदृढ़ आधार देने का प्रयास किया गया है। बंगलादेश-चीन-भारत-म्यांमार (बीसीआईएम) गलियारा और चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) इसके प्रमुख अंग हैं। समारोह की अध्यक्षता युन्नान प्रांत के गवर्नर रुआन चेंगफा ने की। चीन की केन्द्रीय सरकार में वाणिज्य उप मंत्री गाओ यान ने कहा कि लगभग 80 देशों ने बीआरआई समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं। कुनमिंग में इन व्यापारिक कार्यक्रमों का आयोजन बीआरआई परियोजना को गति देने के लिए किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि चीन का कारोबार इन देशों के साथ 2013 के बाद से 31 प्रतिशत बढ़ा है। जबकि इन देशों में चीन का कुल निवेश 11.84 अरब डॉलर का है। आधारभूत ढांचा क्षेत्र में चीन ने इन देशों के साथ 11.5 अरब डॉलर के समझौते किये हैं। एक्सपो में थीम देश के रूप में इस बार म्यांमार और अफगानिस्तान भाग ले रहे हैं। अफगानिस्तान के द्वितीय उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी हाजी मोहम्मद मोहाकिक, लाओस के उप प्रधानमंत्री सोनेशा, सिफान्दोन, विएतनाम के उप प्रधानमंत्री वू दुक दाम तथा म्यांमार के वाणिज्य मंत्री डॉ. थान मिन्त ने भी समारोह को संबोधित किया। इस अवसर पर बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारी उपस्थित थे।

Share it
Share it
Share it
Top