महिला पत्रकारों के यौन शोषण के आरोपी शीर्ष नौकरशाह की बर्खास्तगी का फैसला

महिला पत्रकारों के यौन शोषण के आरोपी शीर्ष नौकरशाह की बर्खास्तगी का फैसला

टोक्यो। जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कईं महिला पत्रकारों के यौन शोषण के आरोपी वित्त मंत्रालय में तैनात एक शीर्ष नौकरशाह को बर्खास्त करने का फैसला किया है। दैनिक समाचार पत्र सांकेई ने आज यह जानकारी दी।
प्रमुख साप्ताहिक पत्रिका शिंचो ने गुरूवार को अपने अंक में एक रिपोर्ट में कहा था कि वित्त मंत्रालय में तैनात उप प्रशासनिक अधिकारी जुनीची फुकुदा एक महिला पत्रकार के साथ एक बार में गए और वहां उस महिला से कहा मैं आपके गले लगाना और चूमना चाहता हूं।
इस अधिकारी पर पहले भी कईं महिलाओं ने आरोप लगाए है और यह मसला प्रधानमंत्री आबे तथा वित्त मंत्री तारो असों के लिए नया सिरदर्द बन सकता हैं क्योंकि इन दोनों पर हाल ही भाई भतीजावाद और अपने मित्रों को फायदा पहुंचाने के आरोप लगे हैं।
इस बीच आज सुबह कार्यालय पहुंचने पर फुकुदा ने बताया कि वह आज दिन में एक बयान जारी करेगा और इस मामले में थोड़ा सब्र करने की जरूरत है।
पत्रकारों की ओर से इस्तीफे से जुडे सवाल पर फुकुदा ने कहा कि अभी इस्तीफा देने का सवाल ही नहीं है ।
पत्रिका ने इन महिला पत्रकारों के नामों को सार्वजनिक नहीं किया है। वैश्विक स्तर पर चलाए जा रहे मी टू अभियान के बाद अनेक महिलाओं ने कार्यस्थल और अन्य स्थानों पर हुए यौन शोषण की शिकायतें दर्ज कराई हैं। इसके बाद दर्जनों अधिकारियों को या तो नौकरी से निकाल दिया गया अथवा उन्होंने इस्तीफा दे दिया है। कईं मामलों में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। वित्त मंत्री ने संसदीय पैनल को इस मसले पर जानकारी दी कि फुकुदा ने उनसे मिलकर अपना पक्ष रखा हैं।

Share it
Top