तुर्की और यूनान के तटों पर भूकंप के जबर्दस्त झटके

तुर्की और यूनान के तटों पर भूकंप के जबर्दस्त झटके

अंकारा/एथेंस। तुर्की और ग्रीक (यूनान) के पर्यटन स्थल एजियन सागर में आज सुबह भूकंप के तेज झटके महसूस किये गये। स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि इससे यूनानी द्वीप के मशहूर पर्यटन स्थल कोस द्वीप पर दो लोगों की मौत हो गई और बीस अन्य घायल हो गए। यह द्वीप ब्रिटेन के पर्यटकों (खासकर यहां छुट्टी बिताने वालों) के लिए प्रसिद्ध स्थल है। तुर्की के बोडरुम में लगभग 70 लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया। ये लोग भूकंप के झटकों के कारण दहशत में आकर इधर उधर भागने के प्रयास मेंं घायल हो गये थे। इस साल रिक्टर पैमाने पर 6.0 की तीव्रता से अधिक का यह दूसरा भूकंप है । कोस के मेयर जॉर्ज किरिट्सस ने बताया कि हमें अभी तक दो लोगों की मौत और कुछ लोगों के घायल होने की सूचना मिली है। द्वीप के मुख्य अस्पताल की ओर से कहा गया है कि भूकंप से अभी तक 20 लोग घायल हुए है लेकिन अन्य सूत्रों से पता चला है कि घायलों में दो पर्यटकों सहित कम से कम 30 लोगों के घायल होने की सूचना है। यूरोपीय भूकंप एजेंसी ईएमएससी ने कहा भूकंप के कारण हल्की सुनामी आ सकती है लेकिन तुर्की के सरकारी प्रसारक ने बताया कि समुद्र में बड़ी लहरें उठने की संभावना है। अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण के मुताबिक भूकंप का केन्द्र समुद्री स्तह से 10 किलोमीटर नीचे स्थित था। मुगला के गर्वनर एसेग्नुल सिविलेक ने संवाददाताओं को बताया कि प्रारंभिक रिपोर्ट के अनुसार कि कुछ लोगों को मामूली चोटें आई हैं और किसी प्रकार का बड़ा नुकसान नहीं हुआ है । प्रशासन की तरफ से लोगों को सुविधाएं मुहैया कराई जा रही है। तुर्की को भूकंप के लिए अत्यधिक जोखिम वाला क्षेत्र माना जाता है क्योंकि यह अरब प्लेट और यूरेसियन प्लेट के बीच में स्थित है। तुर्की के पूर्वी प्रांत के वान में अक्टूबर 2011 में आये रि 7.2 तीव्रता वाले भूकंप में 600 से अधिक लोगों की मौत हो गयी थी। 1999 में देश के पूर्व-पश्चिम में आये दो जबर्दस्त भूकंपों में लगभग 20000 हजार लोगों की मौत हो गयी थी। इसी वर्ष यूनान में रिक्टर पैमाने में 5.9 तीव्रता वाले भूकंप में 143 लोगों की मौत हो गयी थी।

Share it
Top