इराक में आईएस के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान ने की मदद

इराक में आईएस के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान ने की मदद

इस्लामाबाद। इराक ने कहा है कि मोसुल में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान की मदद से आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) को खदेडऩे में सहायता मिली है। आतंकवादियों के खिलाफ पिछले तीन साल से जारी लड़ाई के बाद आईएस से मोसुल को मुक्त कराया गया है। पाकिस्तान में इराक के राजदूत अली यासीन मोहम्मद करीम ने आज यहां दूतावास में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पाकिस्तान का नाम भी उन देशों में शामिल है जिन्होंने इराक में आईएस के खिलाफ लड़ाई में सहायता की है। इराक में आईएस के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान की भूमिका के बारे में इससे पहले पाकिस्तानी अधिकारियों अथवा इराकी अधिकारियों ने पुष्टि नहीं की थी। श्री करीम ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से इराक को आतंकवादियों के बारे में खुफिया जानकारी के अलावा हथियारों तथा गोला बारुद तथा चिकित्सकीय सहायता मुहैया करायी गयी थी। उन्होंने कहा कि कुछ इराकी पायलटों को पाकिस्तान में प्रशिक्षण दिया गया जिन्होंने आईएस के खिलाफ हवाई हमलों में हिस्सा लिया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और इराक दोनों के लिए आईएस समान रूप से दुश्मन हैं। गौरतलब है कि मोसुल इराक का दूसरा सबसे बड़ा शहर है जो पिछले तीन साल से आईएस के कब्जे में था।

Share it
Top