पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ने माना, भारत से हुआ युद्ध तो हारेगा पाकिस्तान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ने माना, भारत से हुआ युद्ध तो हारेगा पाकिस्तान



इस्लामाबाद-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाये जाने के बाद भारत के साथ चल रही तनातनी के बीच यह स्वीकार किया है कि अगर भारत के साथ परंपरागत युद्ध हुआ तो उनके देश को मुंह की खानी पड़ेगी। इमरान खान जम्मू एवं कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाए जाने पर बौखलाए हुए हैं। इसी चक्कर में वह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद में रैली भी कर आए। हालांकि खुद पाकिस्तान के कई लोगों ने माना है कि उनकी यह रैली बुरी तरह फ्लॉप रही। इस रैली से ठीक पहले बड़ी संख्या में लोगों ने 'इमरान खान वापस जाओ' के भी नारे लगाए। शुक्रवार को कश्मीर के समर्थन में मुजफ्फराबाद में आयोजित इमरान खान के जलसे के ठीक पहले बड़ी संख्या में भीड़ ने 'गो नियाजी गो बैक' के नारे लगाए।

खान ने अल जजीरा को दिये साक्षात्कार में कहा कि अगर पाकिस्तान ने भारत के साथ परंपरागत युद्ध लड़ा और वह हारने लगा तब उसके पास दो ही विकल्प होंगे, या तो वह आत्मसमर्पण करे और या फिर आखिरी दम तक आजादी की लड़ाई लड़े।

उन्होंने कहा कि उन्हें मालूम है कि पाकिस्तानी अपनी आजादी की लड़ाई अंतिम सांस तक लड़ेंगे। एेसे में जब परमाणु शक्ति संपन्न दो देश लड़ेंगे तो इसके अपने नतीजे होंगे। यह पूछे जाने पर कि क्या कश्मीर में मौजूदा हालात के मद्देनजर दोनों परमाणु शक्ति संपन्न देशों के बीच किसी बड़े संघर्ष या युद्ध का खतरा है, श्री खान ने कहा, "हां, दोनों देशों के बीच युद्ध का खतरा है।

"उन्होंने कहा कि अपने पड़ोसी देशों में पाकिस्तान का चीन के साथ इस समय इतना करीबी संबंध है जितना पहले कभी नहीं रहा है लेकिन भारत के साथ यह बिल्कुल निचले स्तर पर पहुंच गया है।

श्री खान ने कहा, "कश्मीर में 80 लाख मुसलमान पिछले लगभग छह सप्ताह से कैद हैं। भारत पाकिस्तान पर आतंकवाद फैलाने का आरोप लगा दुनिया का ध्यान इस मुद्दे से भटकाना चाहता है।

पाकिस्तान कभी युद्ध की शुरुआत नहीं करेगा, और मैं इसे लेकर बिल्कुल स्पष्ट हूं, मैं अमनपंसद इंसान हूं, मैं युद्ध के खिलाफ हूं, मेरा मानना है कि युद्ध किसी समस्या का समाधान नहीं है।यही वजह है कि वह इस मुद्दे पर भारत के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर रहे हैं।

Share it
Top