पाक को लगा एक और करारा झटका...एपीजी की बढ़ी निगरानी की सूची में पाकिस्तान

पाक को लगा एक और करारा झटका...एपीजी की बढ़ी निगरानी की सूची में पाकिस्तान

नई दिल्ली। धन शोधन पर एशिया प्रशांत समूह (एपीजी) से शुक्रवार को पाकिस्तान को बड़ा झटका लगा है, जब समूह ने उसकी वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) की सिफारिशों में तीन चौथाई को असंतोषजनक पाते हुए निगरानी की बढ़ी हुई सूची में डाल दिया। एपीजी ने अपनी आपसी मूल्यांकन रिपोर्ट में पाया कि पाकिस्तान का धन शोधन रोधी और आतंकवाद को वित्त पोषण (एएमल: सीएफटी) मामले में उठाये गये कदम निम्न स्तर के हैं। एपीजी ने यह रिपोर्ट पाकिस्तान की दो बार यात्रा के बाद तैयार की है, जिसमें उसने इस्लामाबाद के साथ कम से कम चार तकनीकी अनुबंधों का आदान-प्रदान किया। समूह ने पाकिस्तान सरकार को स्थिति सुधारने के लिए पर्याप्त अवसर दिये। एपीजी के इस फैसले के बाद पाकिस्तान के पास अपनी स्थिति सुधारने के लिए छह माह का वक्त है। बढ़ी हुई निगरानी सूची की पहली रिपोर्ट एपीजी को अगले वर्ष फरवरी में सौंपी जायेगी। इस रिपोर्ट पर एपीजी की टिप्पणी एफएटीएफ के पूर्ण सत्र में रखी जायेगी। दूसरी तरफ पाकिस्तान पर 'बढ़ी निगरानी तुरंत प्रभाव से लागू हो गयी है।

Share it
Top