ईरान के साथ युद्ध नहीं चाहते हैं ट्रंप

ईरान के साथ युद्ध नहीं चाहते हैं ट्रंप

वाशिंगटन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के साथ बढ़ते तनावों के बीच कहा है कि वह उसके साथ युद्ध नहीं चाहते हैं। बीबीसी न्यूज की शुक्रवार की रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रपति ने बुधवार को एक बैठक में सहयोगियों से कहा था कि वह नहीं चाहते हैं कि दोनों देशों के बीच तनाव संघर्ष में बदल जाए। अमेरिका ने हाल के दिनों में खाड़ी क्षेत्र में युद्धपोतों और विमानों को तैनात किया है और ईरान से राजनयिक कर्मचारियों को वापस बुला लिया है। अधिकारियों ने अमेरिका के इस कदम के लिए ईरान से खतरा होने का हवाला दिया है। ऐसी सूचना है कि ईरान ने फारस की खाड़ी में पोतों पर मिसाइलें रख ली है और अमेरिकी जांचकर्ताओं का का दावा है कि इसने संयुक्त अरब अमीरात समुद्र तट से दूर चार टैंकरों को क्षतिग्रस्त कर दिया है। ईरान ने अमेरिकी जांचकर्ताओं के इस दावे का खंडन किया है।श्री ट्रंप से गुरुवार को जब संवाददाताओं ने यह सवाल किया कि क्या ईरान के साथ अमेरिका युद्ध करने जा रहा है तब उन्होंने कहा, "मुझे उम्मीद है ऐसा नहीं होगा" न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ईरान के साथ तनावों को कम करने में मदद के लिए यूरोप और अन्य जगहों पर सहयोगी देशों तक पहुंच रहे हैं। विदेश विभाग की एक विज्ञप्ति में बताया गया कि श्री पोम्पिओ ने 'खाड़ी क्षेत्र में ईरानी खतरों' को लेकर बुधवार को ओमान के सुल्तान कबूस बिन सईद अल सईद से बात की है।

Share it
Top