जहरीली शराब के पीडि़तों ने उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य पर निकाली भड़ास

जहरीली शराब के पीडि़तों ने उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य पर निकाली भड़ास

हरिद्वार। उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य को उस समय अजीबोगरीब स्थिति का सामना करना पड़ा जब जहरीली शराब पीने से हुई मौतों से प्रभावित पीडि़त परिवारों ने उन्हें घेरकर उन पर अपनी भड़ास निकालनी शुरू कर दी।

हरिद्वार के रुड़की क्षेत्र के झबरेड़ा थाना क्षेत्र के बालूपुर, बिंदु खडक और भलस्वगाज में जहरीली शराब पीने से अबतक 38 लोगों की मौत हो चुकी है। घटना के पांच दिन बाद श्री यशपाल आर्य गांव में पँहुचे जहाँ ग्रामीणों ने मंत्री के सामने अपना दु:ख व्यक्त किया। ग्रामीणों का कहना था कि पांच दिन बाद सरकार को पीडि़तों की याद आई है, जबकि इस जहरीली शराब से कई घरों चिराग बुझ चुके हैं। ग्रामीणों ने मंत्री के सामने ही प्रशासन पर जमकर भड़ास निकाली। उनका कहना है कि शराब के मामले में कई बार प्रशासन से शिकायत की थी, लेकिन आज तक किसी इसकी सुध नही ली। श्री आर्य ने कहा कि गांवों में पहुँचने में जरूर देरी हुई है, जिसका उन्हें भी दु:ख है, लेकिन जो सहायता राशि है, उसे जल्द पीडि़त परिवारों तक पहुंचाया जाएगा और सरकार उनकी हर सम्भव मदद कर रही है। साथ ही मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है और इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

Share it
Top