अखिलेश को प्रयागराज जाने से रोकने पर बिफरे सपा कार्यकर्ता... पार्टी कार्यकर्ताओं का गुस्सा भडका, पुलिस से झड़प

अखिलेश को प्रयागराज जाने से रोकने पर बिफरे सपा कार्यकर्ता... पार्टी कार्यकर्ताओं का गुस्सा भडका, पुलिस से झड़प

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोके जाने से पार्टी समर्थकों का गुस्सा फूट पड़ा। राजधानी लखनऊ समेत राज्य के अधिसंख्य क्षेत्रों में सपा कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान कई स्थानों पर पुलिस के साथ झड़पों में बदायूं के सांसद धर्मेन्द्र यादव समेत कई कार्यकर्ता चोटिल हो गये। लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, बदायूं, इटावा और मैनपुरी समेत कई इलाकों में सपा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। सरकार विरोधी नारेबाजी कर पुतले फूंके। राज्य विधानसभा और विधान परिषद में मुख्य विरोधी दल के सदस्यों ने इस कदर हंगामा किया कि दोनो सदनों की कार्यवाही कल तक के लिये स्थगित करनी पड़ी। प्रयागराज से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को इलाहाबाद विश्वविद्यालय में आयोजित छात्रों के कार्यक्रम में शामिल होने की अनुमति नहीं दिए जाने के विरोध में समाजवादी छात्र संघ के कार्यकर्ताओं की पुलिस के साथ हुई झड़प में पार्टी के बदायूं से सांसद धर्मेंद्र यादव समेत कई छात्र और पुलिसकर्मी घायल हो गए। सपा नेता विजमा यादव ने बताया कि पुलिस द्वारा लाठीचार्ज में बदायूं से सपा सांसद धर्मेंद्र यादव और 15-20 छात्र घायल हुए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री को लखनऊ हवाई अड्डे पर रोके जाने के विरोध में सपा कार्यकर्ता जुलूस के रुप में बालसन चौराहे पर जा रहे थे। जुलूस में धर्मेद्र यादव, फूलपुर सांसद नागेन्द्र सिंह पटेल, प्रवीण निषाद, सपा प्रवक्ता ऋचा सिंह सभी को बालसन चौराहे पर रोक दिया था, जिससे आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने चौराहे पर सरकारी होर्डिंग तोड़ दिए और टायर जलाये और पुलिस पर पथराव किया। इससे पहले आक्रोशित सपाइयों ने सुबह लक्ष्मी टाकिज के निकट गमलो को तोडा, जबकि दूसरी ओर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के समर्थकों ने अखिलेश यादव का पुतला दहन करने का प्रयास किया था, जिसे पुलिस ने विफल कर दिया। इस मामले में 100 से अधिक कार्यकर्ताओं को पुलिस लाइन ले जाया गया है। श्री यादव ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ भवन के सामने बड़ी संख्या में मौजूद समाजवादी छात्रसभा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुये कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को प्रयागराज नहीं आने देने का मतलब है कि केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार गठबंधन से डर गई है। लाठीचार्ज में घायल श्री यादव ने कहा कि वह कार्यकर्ताओं के साथ बालसन चौराहे पर स्थित महात्मागांधी की मूर्ति पर पुष्प अर्पित कर अहिंसा का परिचय दे रहे थे। उनका आरोप है कि पुलिस ने कार्यकर्ताओं पर बल प्रयोग किया। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव से छात्र प्यार करते हैं और उन्हें मोदी और योगी सरकार कुचलना चाहती है। अगर पुलिस के जरिये डराने की कोशिश हो रही है तो हम डरने वाले नहीं हैं। इस बीच आक्रोशित सपा कार्यकर्ताओं ने चुनौती दी है कि जब सपा अध्यक्ष को नहीं आने दिया गया तो बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को भी प्रयागराज नहीं आने दिया जायेगा। मुरादाबाद में सपा कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका। इस दौरान छीनाझपटी में पुलिस के एक उप निरीक्षक की वर्दी आग से जल गयी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को प्रयागराज जाने से रोके जाने के बाद सपा कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुये मुरादाबाद कलेक्ट्रेट पहुंचे। उन्होंने वहां मुख्यमंत्री के पुतले को आग लगा दी। सिविल लाइन थाने के उप निरीक्षक कुलदीप ने जलता पुतला उनसे छीनने की कोशिश की। इसी दौरान उनकी वर्दी में आग लग गयी। उप निरीक्षक की वर्दी में आग लगता देख सपा कार्यकर्ताओं ने किसी तरह उसे बुझाया। पुलिस अधीक्षक (नगर) अंकित मित्तल ने बताया कि वर्दी में आग लगने से उप निरीक्षक को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। देवरिया में पार्टी के कार्यकर्ताओं ने आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका। श्री यादव को लखनऊ में रोकने की सूचना मिलने पर सपा के जिलाध्यक्ष राम इकबाल यादव के नेतृत्व में सपा और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकाला और प्रदेश और केंद्र की सरकारों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और कचहरी चौराहे पर जाम लगा कर मुख्यमंत्री का पुतला फूंका। करीब एक घंटे बाद एडीएम (प्रशासन) ने उनसे बात की और उसके बाद जाम खत्म हुआ। इटावा में पार्टी समर्थकों ने सड़कों पर उतर कर के योगी सरकार के खिलाफ जमकर के भड़ास निकाली। अखिलेश के चाचा और सांसद धर्मेद्र यादव के पिता अभयराम सिंह यादव की अगुवाई मे कई सैकडा सपाईयो ने सैफई थाने का घेराव कर लिया और कई घंटे घरने पर बैठे रहे। बाद मे अफसरो के मनाये जाने पर धरने से हट गये, लेकिन जाते जाते सपाईयो मे जोश भरते हुए कह गये कि बदलो बदलो योगी सरकार बदलो। सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के भाई अभयराम सिंह सैफई थाना चौराहे पर पहुंचे। वहां उन्होंने इटावा मैनपुरी मार्ग जाम कराया। वे कुर्सी डालकर बीच सड़क पर बैठ गये उसके बाद वहां पर बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ता पहुंचे। जाम की सूचना पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राम बदन सिंह, उपजिलाधिकारी सैफई हेम सिंह, थानाध्यक्ष सैफई जीवाराम यादव, वैदपुरा थाना प्रभारी जेपी यादव सहित बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स मौजूद रहा। वहीं इटावा मुख्यालय की तो यहां के शास्त्री चौराहे पर समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष गोपाल यादव, नगर पालिका परिषद के पूर्व चेयरमैन कुलदीप गुप्ता, पूर्व जिला अध्यक्ष राजीव यादव, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता विमल भदौरिया की अगुवाई में सैकड़ों की तादात में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता शास्त्री चौराहे पर धरने पर बैठ गए। उन्होंने योगी सरकार के अफसरों पर बदसलूकी कर आरोप लगाते हुये करीब तीन घंटे के धरना प्रदर्शन किया।

Share it
Top