न्यायालय के आदेशों की अनदेखी कर लोगों ने जमकर फोड़े पटाखे....फिर बिगड़ी दिल्ली की आबोहवा

न्यायालय के आदेशों की अनदेखी कर लोगों ने जमकर फोड़े पटाखे....फिर बिगड़ी दिल्ली की आबोहवा

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को सुबह धुएं के साथ हल्की ठंड महसूस की गई। यहां न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो औसत तापमान से से तीन डिग्री सेल्सियस कम है।

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार राजधानी के लोगों ने उच्चतम न्यायालय के आदेश की अनदेखी करते हुए पटाखे फोड़े। पिछले वर्षों की तुलना में हालांकि इस साल कम पटाखे फोड़े गये, लेकिन इसके बावजूद गुरुवार को शहर में वायु गुणवत्ता फिर से बहुत खराब हो गई और यह 350 की स्तर तक पहुंच गयी। यहां वायु गुणवत्ता में बुधवार को हल्का सुधार देखा गया और यह 277 स्तर तक आ गया था। यहां आद्र्रता का स्तर 86 प्रतिशत रहा। मौसम विभाग के अनुसार यहां अधिकतक तापमान 28 डिग्री सेल्सियस के आसपास और आसमान में धुंआ रहने का अनुमान है। यहां पर बुधवार को अधिकतम तापमान 27.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत तापमान से एक डिग्री कम था।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

वहीं उच्चतम न्यायालय के आदेश के बावजूद राष्ट्रीय राजधानी में कई लोग दीपावली पर तय वक्त से ज्यादा समय तक पटाखे जलाते रहे, जिनमें से 562 लोगों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई कर मामले दर्ज किये हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार दीपावली में पटाखा जलाने के मामले में उच्चतम न्यायालय के आदेशों को सख्ती से लागू करवाने के लिए पुलिस ने विशेष इंतजाम किये। राजधानी के सभी इलाकों में पटाखों को नियत समय पर जलाने के आदेश को लागू करवाने के लिए कई टीमें बनाई गई थी। पुलिस के आला अफसरों ने भी कई इलाकों में गश्त कर निरीक्षण किया। अधिकारी ने बताया कि दिल्ली के 13 जिलों में भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत 562 मामले दर्ज किये गये हैं। इसके अलावा बाल न्यायिक अधिनियम के तहत 24 बच्चों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गयी। विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत 72 मामले दर्ज किये गये हैं। अवैध रूप से पटाखा बेचने के मामले में 87 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। नई दिल्ली जिले में सरकारी आदेशों का उल्लंघन करने के खिलाफ कार्रवाई करते हुए छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। द्वारका जिले में 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया है तथा 460 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री जब्त की गयी है। दक्षिण पूर्वी जिले में 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उच्च्तम न्यायालय के आदेश के बाद भी दिवाली के दिन बुधवार की रात जमकर पटाखे जलाए गए जिसका असर गुरुवार सुबह भी देखने को मिला। दिल्ली के लगभग हर इलाके में दृश्यता कम हो गई है। चारों तरफ धुआं-धुआं ही दिख रहा है। उच्चतम न्यायालय ने दीपावली और अन्य त्योहारों के मौके पर रात आठ से 10 बजे के बीच ही पटाखे जलाने की अनुमति दी थी। शीर्ष अदालत ने सिर्फ 'ग्रीन पटाखों' के निर्माण और बिक्री की अनुमति दी थी। दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने दीपावली की रात सड़कों पर तैनात पुलिसकर्मियों को मिठाई भेंटकर उन्हें शुभकामनाएं दी थी।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top