कुछ लोगों को मेरे काम से ईर्ष्या: मोदी...कहा- मुंह में सोने की चम्मच लेकर पैदा हुए हैं ये ईर्ष्यालु लोग

कुछ लोगों को मेरे काम से ईर्ष्या: मोदी...कहा- मुंह में सोने की चम्मच लेकर पैदा हुए हैं ये ईर्ष्यालु लोग

कुरूक्षेत्र। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने परोक्ष रूप से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए मंगलवार को कहा कि मुँह में सोने का चम्मच लेकर पैदा हुए लोगों को उनके काम से ईर्ष्या हो रही हैं और ऐसे लोग लगातार उनकी आलोचना कर रहे हैं।

श्री मोदी ने यहां देश के अनेक राज्यों से आयीं महिला सरपंचों और पंचों को 'स्वस्थ भारत अभियान' के तहत उल्लेखनीय योगदान के लिए सम्मानित करने के बाद यह बात कही। उन्होंने कहा, 'देश का इतिहास कुछ लोगों के लिए वर्ष 1947 से शुरू होता है और सिर्फ यह एक ही परिवार तक है लेकिन देश का सही इतिहास तो अब लिखा जा रहा है।' उन्होंने कहा कि कुछ भ्रष्ट लोगों ने 'महामिलावट' वाला गठबंधन बनाया है और सारे भ्रष्टाचारी नेता इसमें शामिल है। घोटालों में लिप्त नेताओं को जांच एजेंसियों के काम पसंद नहीं आ रहे हैं और अब उनके पसीने छूट गए हैं। श्री मोदी ने कहा कि हजारों वर्ष पहले इसी कुरुक्षेत्र की धरती से भगवान कृष्ण ने अनैतिकता की साफ-सफाई का अभियान शुरू किया था और यह काम अब वह खुद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश में 60 वर्ष से अधिक समय तक सत्ता में रहने वाली कांग्रेस को देश की माताओं-बहनों की गरिमा की कोई चिंता नहीं रही और वर्ष 2014 तक 30 करोड़ घरों में शौचालय नहीं थे तथा महिलाओं को खुले में शौच के लिए मजबूर होना पड़ता था, लेकिन उनकी सरकार ने इस दिशा में काम करने का संकल्प लिया, मगर विपक्ष ने इस बात के लिए उनका मजाक उड़ाया। उन्होंने कहा कि पिछले 70 वर्षों में स्वच्छता का प्रतिशत 40 प्रतिशत रहा था लेकिन उनकी सरकार ने बढ़ाकर इसे 98 प्रतिशत कर दिया है। पिछले साढ़े चार वर्षों में देश के 600 जिलों के साढ़े पांच लाख से अधिक गांव खुले में शौच से मुक्त हो गये हैं। श्री मोदी ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपनी रिपोर्ट में स्वच्छ भारत अभियान की सराहना करते हुए कहा है कि इससे अनेक बीमारियों का बचाव हुआ है और तीन लाख लोगों को जीवन बचा है जो बहुत पुण्य की बात है। श्री मोदी ने कहा देश की जनता ने वर्ष 2014 में उन्हें पूर्ण बहुमत दिलाकर उनकी पार्टी पर अपना विश्वास व्यक्त किया था और इसी 'चौकीदार' ने बिचौलियों तथा भ्रष्ट लोगों का शासन समाप्त किया जिससे बेईमान लोगों को उनसे कष्ट हो रहा है। उन्होंने कहा, 'महागठबंधन एक महामिलावट है जिसके सारे चेहरे भ्रष्ट हैं जो मुझे गाली दे रहे हैं, लेकिन मोदी न उनसे डरेगा, न ही झुकेगा।' श्री मोदी ने कहा कि अब गंदगी और भ्रष्टाचार से मुक्ति का अभियान शुरू होने वाला है और इसके लिए देश की जनता का आशीर्वाद वह मांग रहे हैं।

Share it
Top