Read latest updates about "हेल्थ" - Page 1

  • खून की कमी दूर करता है किशमिश: शोध

    नई दिल्ली । किशमिश खाने में जितना मीठा लगता है, सेहत के लिए भी उतना ही गुणकारी है। यह ऊर्जा का बहुत बड़ा स्त्रोत है। इससे तुरंत ताकत मिलती है। आयुर्वेद के अनुसार रोज किशमिश खाने के बजाय इसका पानी पीने से ज्यादा फायदा मिलता है। किशमिश में काफी मात्रा में शुगर होती है और इसे रातभर भिगोकर रखने से...

  • पालीफेनाल युक्त फल-सब्जियां कैंसर से बचता है

    प्रख्यात पोषण विशेषज्ञ वेनेसा फुक्स ने सुझाव दिया कि कैंसर से बचाव के लिए ग्रीन टी, कुरकुमीन, अनार और फूलगोभी जैसे पॉलीफेनॉल से भरपूर फलों-सब्जियों को अपनी खुराक में शामिल करना चाहिए। अस्वस्थकर खाना खाने की आदत से कैंसर हो सकता है। मैक्सिको के जनरल हॉस्पिटल की क्लीनिकल न्यूट्रिशन विभाग की...

  • त्वचा को रखें हमेशा साफ

    शरीर और त्वचा की सफाई के बारे में तो सभी जानते हैं पर अधिकतर महिलाएं त्वचा की सफाई का अर्थ साबुन से मुंह हाथ धोना समझती हैं जबकि डियोडरेंट वाले साबुन त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं। इससे स्किन में एलर्जी हो सकती है। स्किन पर हमेशा माइल्ड सोप का ही इस्तेमाल करना चाहिए। वैसे तो मार्केट में अब फेस वॉश...

  • माता-पिता ही रख सकते हैं बच्चों की पौष्टिकता का ध्यान

    अक्सर मांओं की शिकायत होती है कि बच्चे खाने के समय दाल-रोटी सब्जी का नाम सुनते ही कुछ न कुछ बहाने बनाने लगते हैं जैसे भूख नहीं, पेट दर्द हो रहा है, उलटी आ रही है। अगर उन्हें उसी समय में चिप्स, बर्गर, कोल्ड ड्रिंक दिया जाए तो न तो पेट दर्द होता है, न भूख की कोई शिकायत, न उलटी आती है। वे फटाफट...

  • बच्चों को पूरी नींद लेने दें

    नींद और आराम का चोली दामन का संबंध है। काम के बाद थकान, फिर नींद - इसमें अवरोध नहीं आना चाहिए। नींद एक प्रकार का टॉनिक है, जो ताजगी और नई जिंदगी देता है। बच्चे हों या बूढ़े, नींद सबके लिए जरूरी है। जवान आदमी के लिए 6 घंटे पर्याप्त होते हैं जबकि बूढ़े लोग 3-4 घंटे ही सो पाते हैं लेकिन बच्चों को तो...

  • गर्मियों में तरावट के लिए शर्बत

    तरबूज का शर्बत सामग्री:- एक गिलास शर्बत बनाने के लिए पके लाल तरबूज के गूदे के टुकड़े 175 ग्राम, आधा चम्मच महीन पिसा हुआ अदरक, 1 चम्मच शक्कर, ताजे संतरे का रस 2 चम्मच, साफ-स्वच्छ पानी आवश्यक मात्र में और चुटकी भर सेंधा नमक। विधि:- तरबूज के टुकड़ों का रस निकालकर इसमें पिसा हुआ अदरक, संतरे का रस,...

  • मॉडर्न लाइफ: बीमारी की जड़

    आज की तेजी से बदलती हुई जीवन शैली ने हमारे काम करने के ढंग को ही नहीं बदला है बल्कि इससे हमारी सेहत पर भी बुरा असर पड़ा है। आज के युवा काम से उत्पन्न तनाव को दूर करने के लिए स्मोकिंग और जंक/फास्ट फूड, अल्कोहल का सहारा लेना शुरू कर देते हैं। इन सबसे उनकी हड्डियां व मांसपेशियां निरंतर कमजोर होती चली...

  • जब पीठ दर्द से पीडि़त हों

    पीठ दर्द एक ऐसा रोग होता है जिससे लोग प्राय: पीडि़त होते ही हैं। यह दर्द सहनीय से असहनीय हो उठता है। पीठ को आधार देने वाली मजबूत पेशी में मोच आ जाती है जिस कारण असहनीय पीड़ा उठती है। पीठ दर्द के कारण भी कई हैं जैसे स्पाइनल स्टिनासिस, स्पाइनल आर्थराइटिस, ओस्टियोआर्थराइटिस एवं हड्डियों का बढऩा। ...

  • स्वास्थ्य का सबसे बड़ा शत्रु है क्रोध

    वर्तमान समय में जरा-जरा सी बात पर लोगों को क्रोध आना एक साधारण बात हो गई है। लोगों के चेहरों पर सहनशीलता और गंभीरता नाम मात्र को ही दिखाई देती है। इसका कारण है इस प्रतिस्पर्धा पूर्ण जीवनशैली में मनुष्य का अनेक प्रकार के दबावों से घिरा होना। सुख, चैन, खुशी और प्रसन्नचित मन वाले चेहरे शायद ही भीड़...

  • चाय हृदय रोगियों के लिए फायदेमंद

    चाय एक ऐसा पेय है जो हर परिवार में पिया ही जाता है भले ही कम मात्र में या ज्यादा मात्र में। इसके फायदों को लेकर विशेषज्ञ एकमत नहीं हैं पर नवीनतम शोधों से यह तो सामने आया ही है कि चाय में एंटीआक्सीडेंट फ्लेवोनाइड्स पाए जाते हैं जो स्वास्थ्य के लिए अच्छे हैं। बोस्टन बेथ इजराइल डेकोनेस मेडिकल सेंटर के...

  • ज्वर कोई गंभीर समस्या नहीं

    ज्वर या बुखार होना कोई बड़ी समस्या तो नहीं पर कभी-कभी तेज ज्वर या कई दिन तक रहने वाला ज्वर समस्या का कारण बन सकता है। वैसे तो ज्वर अपने आप में कोई बड़ी बीमारी नहीं है फिर भी इसे हल्का न लेते हुए कुछ उपयोगी बातों को ध्यान में रखना चाहिए। - ज्वर कई कारणों से हो सकता है जैसे सर्दी जुकाम होने पर,...

  • भीषण गर्मी से कैसे करें अपना बचाव

    जिंदगी उतार-चढ़ाव का नाम है। धूप-छांह का नाम है। जब जो मौसम आए, उसका खुलकर मजा लें। कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें सर्दियों में शीत रास नहीं आती और गर्मियों में गरमी बढ़ते ही वे हाय-तौबा मचाने लगते हैं। हमें यह कतई नहीं भूलना चाहिए कि मौसम के बदलते मिजाज को हम बदल नहीं सकते। बदलना हमें ही होगा। अच्छा...

Share it
Top