शामली: कूडे के ढेर में लगी आग से दर्जनों मरीजों की हालत बिगडी

शामली। शहर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में लापरवाही के चलते कूडे के ढेर में आग लगा से फैले धुंए के कारण चकित्सालय में भर्ती मरीजों को भारी दिक्कतों का सामना करना पडा। बाद में मरीजों की दशा बिगडती देख आग को पानी डालकर शांत किया गया। बुधवार को शामली के राजकीय चिकित्सालय में कर्मचारियों की एक बडी लापरवाही उस समय देखने को मिली, जब एक स्वास्थ्य कर्मचारी ने कूडे के ढेर में आग लगा दी। कूडे के ढेर में आग लगाये जाने के कुछ देर बाद ही आग से निकलने वाला धुआ चिकित्सालय में भर्ती मरीजों के कमरों में फैल गया। धीरे धीरे जैसे ही धुआ फैला तो मरीजों को दशा बिगडनी शुरू हो गई। धुआ में जहां मरीजों को भारी दिक्कतों का सामना करना पडा वही मरीजों के साथ आने वाले लोगों को भी दिक्कते हुई। मरीजों की दशा बिगडती देख वहां मौजूद लोगों ने पानी डालकर आग को शांत किया। मरीजों का कहना था कि वैसे तो सरकार गरीबों के लिए अनेकों योजनाऐं चला रही है। मरीजों को चिकित्सालय में भर्ती कर बेहतर उपचार दिये जाने के निर्देश दिये गए, लेकिन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी तथा कर्मचारियों की लापरवाही से मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पडता है। उन्होने सरकार की मंशा के अनुसार बेहतर सुविधा देने की मांग की है।

Share it
Top