खादर में धधक रही सिंथेटिक मावे की भटिटयां...कैराना पुलिस ने पकड़ी मावे की वैन कार, फीलगुड़ कर छोड़ा

कैराना। खादर क्षेत्र में बड़े पैमाने पर सिंथेटिक खोया-पनीर और मावे की भटिटयां धधक रही है। इसका राजफाश तब हुआ, जब पुलिस ने जंधेड़ी से लाई जा रही सिंथेटिक मावा व दूध की एक वैन कार को कब्जे में ले लिया। पुलिस ने मामले में फीलगुड करते हुए उक्त कार को छोड़ दिया। इससे खाद्य विभाग अनभिज्ञ है। कैराना कोतवाली पुलिस ने बाईपास से गुजर रही एक वैन कार संख्या एचआर 2 एफ 5161 को अपने कब्जे में ले लिया। बताया जा रहा है कि कार में 70 किलोग्राम मावा और एक कुंतल दूध के कैन थे। कार सवारों ने बताया कि वह मावे को खादर क्षेत्र के ग्राम जंधेड़ी में ला रहे थे। मावा-दूध कहां सप्लाई होना था, यह पुलिस भी उजागर नहीं करा सकी है। मामले में पुलिस ने कार सवारों को फीलगुड करते हुए उनकी कार को छोड़ दिया, जो क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। गंभीर पहलू यह भी है कि पुलिस ने इस पूरे मामले को खाद्य विभाग के अधिकारियों से भी छिपाए रखा और इसकी सूचना तक भी विभाग को नहीं दी गई। इससे साफ प्रतीत होता है कि पुलिस ने सेटिंग-गेटिंग के चलते पूरे मामले में खेल कर दिया है। यदि विभाग को इस बारे में सूचित किया जाता, तो सिंथेटिक धंधे की परतें भी खुलकर सामने आ सकती थी। गौरतलब है कि कैराना के खादर क्षेत्र में लंबे समय से सिंथेटिक मावा, खोया-पनीर आदि का गोरखधंधा बड़े पैमाने पर चल रहा है। जहां संबंधित विभाग की मिलीभगत के चलते भटिटयां धधक रही है। मिलावटखोर से जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने पर तुले हुए हैं। लेकिन, संबंधित विभाग कुंभकर्णी नींद से बेदार होने को तैयार नहीं है।

क्या कहते हैं कोतवाल

कोतवाली प्रभारी राजेंद्र कुमार नागर का कहना है कि मावा और दूध की कार पकड़ी गई थी। उन्होंने सफाई दी कि उक्त कार शादी में जा रही थी, इसलिए उसे छोड़ दिया गया।

Share it
Top