कैराना में बुझने लगी तेल की प्यास...नगर और देहात में चालू होने जा रहे हैं एक साथ चार तेल पंप

कैराना में बुझने लगी तेल की प्यास...नगर और देहात में चालू होने जा रहे हैं एक साथ चार तेल पंप

कैराना। अब कैराना की जनता को वाहनों में तेल के लिए हरियाणा तक सफर तय नहीं करना पड़ेगा। दशकों बाद यहां के बाशिंदों की तेल की प्यास बुझने जा रही है। चुनाव में कई बार पेट्रोल-डीजल मुद्दा बना है, तो वहीं अब कैराना क्षेत्र में बायोफ्यूल कंपनी के एक साथ चार तेल पंपों का संचालन शुरू होने जा रहा है। इससे क्षेत्रवासियों को ही नहीं, बल्कि दूर-दराज से आने वाले वाहन स्वामियों को भी काफी राहत मिलेगी।

लाखों की आबादी वाला कस्बा कैराना हरियाणा सीमा से सटा हुआ है। करीब ढाई दशक पहले तक यहां पानीपत रोड पर पेट्रोल पंप हुआ करता था, लेकिन यूपी और हरियाणा में डीजल-पेट्रोल के दामों में अंतर था, इसलिए वाहन स्वामी हरियाणा में सस्ता तेल होने के चलते वहां से वाहनों में तेल इस्तेमाल किया करते थे। यही कारण रहा कि कैराना कस्बे से एक दिन पेट्रोल पंप का नामो-निशान मिट गया। पेट्रोल पंप बंद होने के पीछे हरियाणा में सस्ते तेल का असर भी वजह माना जाता रहा है।

अब जबकि सरकार ने नई तेल नीति शुरू की है, तो इससे यूपी-हरियाणा में तेल के दाम एक समान हो गए। इसी के चलते कैराना की जनता को तेल पंपों की सौगात मिली है।

कैराना नगर में कांधला रोड पर बायोफ्यूल कंपनी का बड़ा तेल पंप खोलने की निर्माण प्रक्रिया चल रही है, जहां पर दो मशीनें स्थापित हो चुकी है। इसका लाईसेंस आलम फ्यूल सेंटर के नाम से मोहम्मद जुनैद आलम निवासी मोहल्ला बिसातियान के नाम हैं। मिर्माण कार्य पूर्ण होने के बाद वाहनों को तेल का घूंट मिलना शुरू हो जाएगा। बताया जा रहा है कि इस तेल पंप के अलावा नगर में ही एक तेल पंप रामडा रोड, एक भूरा व एक तितरवाड़ा गांव में चालू होने जा रहे हैं। इन तेल पंपों के पास में एक-एक मशीन की अनुमति हैं। कहा जा रहा है कि तेल पंपों पर एक-दो मशीनें चल भी रही है।

उधर, तेल पंप से अछूते कैराना कस्बे के एकसाथ में चार तेल पंपों की होने जा रही स्थापना से क्षेत्र के लोगों में भी खुशी का माहौल नजर आ रहा है, क्योंकि जिन लोगों को वाहनों में तेल के लिए पडोसी हरियाणा का रूख करना पड़ता था, अब उन्हें राहत मिलेगी और समय भी जाया नहीं होगा। इतना ही नहीं, आसपास शहरों से आने वाले वाहन स्वामियों को भी तेल पंपों से राहत मिलेगी, क्योंकि अक्सर देखने में आता रहा कि बहुत से वाहनों में कैराना में आकर तेल खत्म हो गया, तो फिर उनके सामने एक बड़ी समस्या खड़ी हो जाती थी। परिवार भी साथ होता, तो चिंता बढऩे लगती थी। ऐसे में लोगों को पुलिस की सहायता लेनी पड़ती थी। अब इस सबसे निजात मिलने की उम्मीद हैं।

तेल माफियाओं की दुकानें हुई ठप

क्षेत्र में एकसाथ चार तेल पंपों का संचालन शुरू होने से मिलावटखोर तेल माफियाओं का धंधा भी चौपट होता नजर आ रहा है, क्योंकि नगर व देहात क्षेत्र में बड़े पैमाने पर मिलावटी डीजल-पेट्रोल की बिक्री होती रही है। नगर में तेल पंप नहीं होने के कारण लोगों को मजबूरन अपने वाहनों में मिलावटी तेल डलवाना पड़ता था। पिछले दिनों एसडीएम डा. अमित पाल शर्मा ने मिलावटखोरों की दुकानों को बंद करा दिया था। तेल पंपों पर नियमानुसार ही तेल बेचना होगा। यदि नियमों का उल्लंघन किया जाता है, तो फिर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Share it
Top