गन्ना भुगतान को लेकर भारतीय किसान संगठन ने दिया बजाज शुगर मिल पर धरना

थानाभवन। बजाज हिंदुस्तान शुगर मिल पर गन्ने के बकाया भुगतान को लेकर रविवार को प्रस्तावित भारतीय किसान संगठन के नेता व क्षेत्र के किसानों ने धरना दिया, जिसमें संगठन के नेताओ ने बताया कि किसानों का मिल पर करोड़ो का बकाया है जिसके कारण किसान भुखमरी की कगार पर पहुँच गया है। किसान समय पर अपने बच्चो की स्कूल फीस दे पा रहा है और न ही अपनी आगामी फसल की देख रेख व उसके खर्चे की पूर्ति नही कर पा रहा है। जिस कारण किसान की समझ नही आ रहा है के किसान अपनी आजीविका चलाये तो चलाये कैसे। किसानों ने कहा कि हमने पूर्व में भी सरकार व मिल प्रशासन से कई बार गुहार लगायी, लेकिन देश व प्रदेश की अंधी व बहरी सरकार किसानों के लिए कोई प्रभावी कदम नही उठा पायी। किसानों का विरोध बढ़ते देख एस डी एम शामली व क्षेत्राधिकारी थानाभवन पुलिस बल धरना स्थल पर पहुँचे और आदर्श आचार संहिता का हवाला देते हुए धरना समाप्त कराया। जिसको लेकर किसानों की मिल प्रशासन व पुलिस से नोकझोंक भी हुई।धरने में संगठन के जिला अध्यक्ष जमील प्रधान, उपाध्यक्ष राजू सिंह, नरेश तोमर, मोहित सिंह, संजय सिंह, वकील, ममरेज राणा, आसिफ मसावी, अजित सिंह, महक सिंह, जबर सिंह आदि किसान मौजूद रहे। गन्ना जी एम लेखपाल सिंह ने बताया कि बजाज शुगर मिल का सरकार पर लगभग 14 करोड़ विधुत बिक्री का बकाया है तथा शुगर प्रमोशन पॉलिसी के 84 करोड़ रुपये मार्च के महीने तक देने का आश्वासन है जैसे ही सरकार से पैसा मिलेगा किसानों के खाते में डाल दिये जायेंगे।

Share it
Top