विवाहिता को दिया तलाक, घर से भी निकाला...राज्य महिला आयोग के निर्देश पर चार पर मुकदमा

विवाहिता को दिया तलाक, घर से भी निकाला...राज्य महिला आयोग के निर्देश पर चार पर मुकदमा

कैराना। दहेज प्रताडऩा के मामले में पुलिस ने राज्य महिला आयोग के निर्देश पर भूरा कैराना के चार लोगों के खिलाफ दहेज एक्ट में केस दर्ज किया है। आरोप है कि अतिरिक्त दहेज की मांग पूरी नही होने पर ससुरालियों ने विवाहिता को तलाक देकर घर से बाहर निकाल दिया गया। शिकायत पर पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई, इसके चलते पीडिता को महिला आयोग की शरण लेनी पड़ी।

कैराना कोतवाली पर दर्ज मुकदमे के अनुसार सय्यारा पुत्री जमील निवासी ताताहेड़ी गंगोह की शादी 21 जून 2014 को भूरा निवासी अफसर पुत्र फूलहसन के साथ हुई थी। शादी में पिता और भाईयों ने हैसियत से ज्यादा दानकृदहेज दिया था, लेकिन ससुरालिए विवाहिता पर अतिरिक्त दहेज का दबाव बना रहे थे। आरोप है कि इसी के चलते सात सितंबर 2018 को पति अफसर, देवर बाबर, सादा व ससुर फूलहसन ने ढ़ाई लाख रूपये व एक कार की मांग पूरी नहीं होने पर गालियां दी। मारपीट भी की गई। इसके बाद आरोपियों ने तलाक देकर विवाहिता को तीन कपड़ों में धक्का देकर घर से बाहर निकाल दिया। पीडिता का आरोप है उसने पहले गंगोह और फिर बाद में कैराना कोतवाली पहुंचकर पुलिस से रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की, लेकिन कहीं पर भी उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद पीडिता ने राज्य महिला आयोग में शिकायत की। राज्य महिला आयोग द्वारा मामले में संज्ञान लेने के बाद आरोपियों के खिलाफ कैराना कोतवाली में मुकदमाती कार्रवाई अमल में लाई गई है। पुलिस के अनुसार शिकायत के आधार पर आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 498-ए, 323, 504, दहेज प्रतिषेध अधिनियम की धारा 3 और चार के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

पीडि़ता ने खोली भूरा में नशे के कारोबार की पोल

शामली जनपद का गांव भूरा कैराना देश भर में हर प्रकार के नशे के लिए विख्यात है। यहां से जनपद समेत देश के विभिन्न स्थानों पर नशे की सप्लाई होती है। यह भी कहा जाता है कि इस गांव के कई महिलाएं भी नशे के कारोबार से जुड़ी हुई है। राज्य महिला आयोग के निर्देश पर कैराना कोतवाली में दर्ज हुए मुकदमें में भी पीडिता ने इसी नशे के साम्राज्य का जिक्र किया है। पीडिता का आरोप है कि उसके ससुराल वाले कुछ लोग भी नशे का कारोबार करते हैं, जिन्होंने नशे का साम्राज्य खड़ा कर रखा है। महिला ने बताया कि वह जब इसका विरोध करती थी, तो उसे प्रताडित किया जाता था।

Share it
Top