दो मासूम बच्चियों पर टूटा मुफलिसी का कहर, एक की मौत...मवी काकौर में कच्चा मकान गिरने से मलबे में दबी दो बच्चियां

कैराना। मवी काकौर में कच्चा मकान गिरने से दो मासूम बच्चियां मलबे के नीचे दब गई, जबकि उनकी मां और दुधमुहा भाई बाल-बाल बच गए। दोनों बच्चियों को गंभीर हालत में पानीपत भर्ती कराया गया है। उपचार के दौरान एक बच्ची की मौत हो गई। मकान तहत-नहस होने से गरीब परिवार खुले में आ गया है।

कैराना कोतवाली क्षेत्र के गांव मवी काकौर में सलीम पुत्र यासीन मल्लाह का परिवार रहता है। रविवार की शाम तकरीबन सवा छह बजे यासीन मजदूरी के सिलसिले में घर से बाहर था। उसकी पत्नी समूना अपने चार माह के दुधमुहे बेटे को गोद में लेकर आंगन में खाना बना रही थी, जबकि यासीन की तीन साल की बेटी सादिया और पांच साल की बेटी साईस्ता मकान में बैठकर खेल रही थी। बताया जाता है कि इसी बीच उनके कच्चे मकान की छत और दीवारें तेज धमाके के साथ ढह गई। मलबे में दोनों बच्चियां फंस गई। मकान के गिरने से हुए धमाके और मां के चींखने चिल्लाने की आवाज सुनकर गांव के लोग दौड़ते हुए मौके पर पहुंचे। मां के इशारे पर ग्रामीणों ने मलबे में दबी दोनों बच्चियों को ढूंढना शुरू कर दिया। ग्रामीणों ने काफी मशक्कत के बाद गंभीर रूप से घायल हुई दोनों बच्चियों को मलबे से बाहर निकाला। यासीन के घर पर मौजूद नहीं होने के कारण ग्रामीण खुद ही बच्चियों को उपचार के लिए ले गए। बताया गया है कि जिले में प्रभावी उपचार की सुविधा मुहैया नहीं होने के चलते दोनों बच्चियों को उपचार के लिए पानीपत के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन समय से उपचार नहीं मिलने के चलते बच्ची सादिया की मौत हो गई, जबकि साईस्ता की हालत भी गंभीर बताई जा रही है। पीडित परिवार मकान गिरने के बाद खुले में आ गया है, जिन्हें प्रशासनिक मदद की भी दरकार है।

Share it
Share it
Share it
Top