आग ने मिट्टी में मिला दिए गरीब के अरमान...ह्म् नाहिद कॉलोनी में अज्ञात कारणों से झोंपड़ी में लगी आग, पिता-पुत्र झुलसे

कैराना। गरीब की झोंपड़ी में अज्ञात कारणों के चलते आग लगने से परिवार के अरमान मिट्टी में मिल गए। आग की चपेट में आने से जहां पिता-पुत्र गंभीर रूप से झुलस गए, वहीं बेटी की शादी के दहेज के लिए झोंपड़ी में रखा लाखों का सामान भी जलकर स्वाह हो गया। झुलसे पिता-पुत्र को सीएचसी पर भर्ती कराया गया है। पीडि़त परिवार को प्रशासन से मुआवजे की दरकार है। मूलरूप से ऊन क्षेत्र के पिंडौरा के रहने वाले नसीम उर्फ बाबू पुत्र शफी लगभग पंद्रह वर्ष पूर्व परिवार के साथ कैराना में आकर रहने लगा था। वह यहां झिंझाना रोड पर स्थित गैस गोदाम पर नौकरी करता है। नसीम घर-परिवार में आने-जाने की समस्या को देखते हुए गोदाम के निकट स्थित नाहिद कॉलोनी में झोंपड़ी डालकर परिवार समेत करीब चार वर्षों से रह रहा है। सोमवार दोपहर तकरीबन एक बजे नसीम अपने आठ वर्षीय पुत्र कसीम के साथ झोंपड़ी में सोया हुआ था। इसी बीच अज्ञात कारणों के चलते झोंपड़ी में आग लग गई। उसकी पत्नी अफसाना अपनी बेटी को दवाई दिलाने के लिए कैराना डॉक्टर के आई हुई थी। आग की चपेट में आने से दोनों पिता-पुत्र गंभीर रूप से झुलस गए। चींख-पुकार पर आसपास में रहने वाले लोगों ने उन्हें किसी तरह बाहर निकाला और पानी डालकर आग पर काबू पाया। झुलसे पिता-पुत्र को उपचार हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया गया है। उधर, नसीम की पत्नी अफसाना ने बताया कि लगभग 10 दिन बाद उसकी पुत्री की तितरवाड़ा गांव से बारात आनी थी, जिसे दहेज में देने के लिए सामान लाकर रखा हुआ था। आग में नया बैड, वाशिंग मशीन, सिलाई मशीन, कपड़े, टंकी, नियामतखाना आदि तमाम सामान जलकर राख हो गया। इसके बाद से उसकी लड़की की शादी के अरमान भी आंसुओं में बह गए। पीडि़त परिवार ने प्रशासन से मुआवजा दिलाए जाने की गुहार लगाई है।

Share it
Top