स्वच्छ भारत मिशन' ग्रामीण के अन्तर्गत ग्राम बेहड़ा सादात में हुआ 20000 वें शौचालय का उद्घाटन

मुजफ्फरनगर । आज प्रभारी जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने 'स्वच्छ भारत मिशन' ग्रामीण के अन्तर्गत ग्राम बेहड़ा सादात में बनाये गये 20000 वे शौचालय का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि हर घर में शौचालय हो और सभी शौचालय का उपयोग करें तो 50 प्रतिशत बीमारियां स्वतः ही समाप्त हो जायेंगी और ग्रामवासियों की गाढ़ी कमाई का पैसा बीमारियों पर न लगकर विकास कार्यों में लगेगा। उन्होने कहा कि इस मकसद से ग्रामवासियों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करना है कि शौच के लिए शौचालय का प्रयोग करें। उन्होंने कहा कि विकास और समृद्धि का सम्बन्ध स्वास्थ्य से होता है और स्वास्थ्य का सम्बन्ध शुद्ध पानी और साफ-सफाई से होता है। उन्होंने कहा कि खुले में पड़ा मल, गन्दा वातावरण अनेक बीमारियों को जन्म देता है।
उन्होंने कहा कि खुले में शौच से जुड़ी परम्परागत जीनवशैली प्रदूषित वातावरण का कारण बन कर जहां तक एक और जन जीवन को प्रभावित करती है वही दूसरी और बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति अपना काम सूचारू रूप से नही कर पाता है। उन्होंने कहा कि जिन लोगो की आर्थिक स्थिति अच्छी है वे अपने घरों में स्वयं शौचालय का निर्माण करा लें और जिन की स्थिति अच्छी नही है वे सरकारी धन से शौचालय का निर्माण जल्द से जल्द करायें। उन्होने कहा कि माह नवम्बर के प्रथम सप्ताह तक जनपद में सभी शौचालय पूर्ण करा लिये जायेंगे।
प्रभारी जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल आज यहां ग्राम बेहड़ा सादात में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अन्तर्गत वर्ष 2017-18 में निर्मित 20 हजार वें शौचालय का उद्घाटन कर रहे थे। उन्होने श्रीमती प्रमोद पत्नी घसीटा के 20 हजार वें शौचालय का उद्घाटन करते हुए उन्हे नियमित रूप से शौचालय के प्रयोग एवं स्वच्छता बनाये रखने के लिए भी कहा। इसके साथ ही श्रीमती अनिता पत्नी रामकिशन एवं एक अन्य लाभार्थी राम प्रसाद पुत्र मानसिंह के शौचालय का भी निरीक्षण किया।
उन्होंने कहा कि हर घर में शौचालय होना आवश्यक है। प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा कि खुले में शौच जाने के कारण महिलाओं के आत्मसम्मान केा ठेस पंहुचती है। उन्होने कहा कि 15 सिमम्बर से 2 अक्टूबर तक 'स्वच्छता ही सेवा है' पखवाडा चलाया गया और इस पखवाडे के अन्तर्गत बडी संख्या में शौचालयों का निर्माण और स्वच्छता के प्रति जन जागरूकता के कार्यक्रम कराये गये। उन्होने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री जी एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री जी का स्वच्छता से सम्बन्धित जो सपना है उसे साकार करना है और समय से पहले ही जनपद को ओडीएफ घोषित करना है। उन्होंने बताया कि पिछले 15 दिन में 10 हजार शौचालय निर्मित कराये गये। उन्होने कहा कि स्वच्छता के प्रति जागरूक हो और जो ग्राम प्रधान अपने ग्राम को जल्द से जल्द ओडीएफ करायेगे उन्हे सम्मानित भी किया जायेगा। उन्होने कहा कि वे लोगो को स्वच्छता के प्रति एवं शौचालय के निर्माण के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए गांव में आये है।
प्रभारी जिलाधिकारी ने ग्रामवासियों की समस्याएं सुनी और उनके निस्तारण के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होने कहा कि जो लोग वृद्धावस्था अथवा विधवा पेंशन की पात्रता की श्रेणी में आते है वे पेंशन के लिए ऑनलाइन आवेदन करें औपचारिकतायें पूर्ण होने के बाद शासन से पैसा सीधे लाभार्थी के खाते में भेजा जायेगा। उन्होने कहा कि यदि उन्हेे फिर भी कोई कठिनाई है तो उनके समाधान के लिए ग्राम प्रधान/पंचायत सचिव से सम्पर्क करे। प्रभारी जिलाधिकारी ने गांव में साफ-सफाई एवं स्वच्छता बनाये रखने के लिए डीपीआरओ को निर्देश दिये कि गांव में प्रधान के माध्यम से कूड़ा प्रबन्धन का प्रस्ताव बनाया जाये और ठोस व तरल अपशिष्ट का प्रबन्धन सुनिश्चित कराये। उन्होने कहा कि नालियों की भी साफ सफाई सुनिश्चित कराई जाये।
प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा कि पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाने के लिए हर व्यक्ति यह संकल्प ले कि वे कम से कम एक पेड़ अवश्य लगाये और उनकी देख रेख करे । उन्होंने कहा कि वृक्षों से हमे ऑक्सीजन तो मिलती ही है साथ ही वृक्ष हमारी आय का स्रोत भी है। उन्होंने चौपाल में ग्रामवासियों की समस्याओं के साथ साथ मीना पत्नी असरफ, शाहजाह पत्नी मुशर्सफ, इश्वरी एवं महावीर के यहां बनने वाले आवासों की भी जानकारी की और निर्माण कार्याे में तेजी लाये जाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि विधवा, वृद्धावस्था एवं विकलांग पेंशन में पैसे की कोई कमी नही है। उन्होंने कहा कि कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से पात्र अपने आवेदन भिजवाये और सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करे। साथ ही उन्होने यह भी निर्देश दिये कि गांव में कराये जाने वाले कार्य गुणवता पूर्ण कराएं जाएं।

Share it
Top