मुज़फ्फरनगर : सुशील मूंछ का बेटा टोनी गिरफ्तार...सरेराह युवक की कनपटी पर पिस्टल तानने का आरोप, मुकदमा दर्ज

मुजफ्फरनगर। सिविल लाईन थानाक्षेत्र के अंतर्गत मदन स्वीट्स के निकट आज दोपहर के समय एक युवक की कनपटी पर पिस्टल तानने के आरोप में सुशील मूंछ के बेटे टोनी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके कब्जे से पिस्टल व कारतूस भी बरामद किये है। उसके खिलाफ गम्भीर धाराओं में मुकदमा भी दर्ज करा दिया गया था। टोनी को छुडवाने के लिये थाने में दर्जनों सफेदपोशों का जमावडा लगा रहा, लेकिन पुलिस के कडे रूख के चलते किसी की भी सिफारिश नहीं मानी गई।

जानकारी के अनुसार आज दोपहर लगभग 1.30 बजे सिविल लाईन थाने के निकट मदन स्वीट्स के सामने कार सवार कुछ युवकों ने बाईक सवार एक युवक को दबोच लिया और सरेराह उसकी कनपटी पर पिस्टल तान दी। इस घटना से वहां हडकम्प मच गया और भारी भीड जमा हो गयी, जिसके चलते जाम की स्थिति भी बन गई। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और सभी को सिविल लाईन थाने ले आयी। पूछताछ में युवक ने अपना नाम टोनी उर्फ मनजीत सिंह पुत्र सुशील मूंछ निवासी मथेडी थाना रतनपुरी बताया। पुलिस को जब यह पता चला कि पकडा गया युवक सुशील मूंछ का बेटा है, तो हडकम्प मच गया। एसओ सिविल लाईन गिरीशचन्द शर्मा ने तत्काल उच्चाधिकारियों को जानकारी दी। जानकारी मिलते ही सीओ सिटी हरीश भदौरिया भी सिविल लाईन थाने पहुंचे। पकडे गये युवक टोनी को पुलिस ने हवालात में बंद कर दिया। इस दौरान दर्जनों सफेदपोश भी सिविल लाईन थाने पहुंच गये और टोनी को छुडवाने का प्रयास करने लगे। पुलिस ने उक्त युवक को वहां से जाने को कहा, जिस पर टोनी ने पिस्टल तान दी थी। इस मामले को पुलिस ने बेहद गम्भीरता से लेते हुए अपनी तरफ से ही मुकदमा दर्ज कराया। शुरू में पुलिस धारा 25 आर्म्स एक्ट में ही मुकदमा लिखने की तैयारी कर रही थी, लेकिन उच्चाधिकारियों के निर्देश पर गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया। बताया जा रहा है कि कोर्ट में एक मुकदमे की तारीख पर आये युवक को अपना पीछा करते हुए देखकर ही टोनी व उसके साथियों ने उसे रोककर पूछताछ की थी, जबकि युवक का कहना था कि वह खुद कोर्ट में तारीख पर आया था और पीछा करने की बात झूठी है। पूछताछ में युवक ने बताया कि वह मदन स्वीट्स के पास पहुंचा, तो लोगों ने उसे रोक लिया तथा पिस्टल निकालकर उसकी कनपटी पर रख दी, जिससे वह घबरा गया और शोर मचा दिया। शोर-शराबा सुनकर पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी टोनी को गिरफ्रतार कर लिया। मामले की जानकारी मिलने पर एसओजी की टीम भी सिविल लाईन थाने पहुंची और बंद कमरे में टोनी से कापफी देर तक पूछताछ करती रही। इस दौरान टोनी का भाई मोनी उर्फ अक्षयजीत सिंह व सैंकडों समर्थक भी वहां पहुंच गये, जिससे कापफी देर तक हंगामे की स्थिति बनी रही।

Share it
Top