भैसाना शुगर मिल से किसानों का बकाया भुगतान कराने के लिए राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

भैसाना शुगर मिल से किसानों का बकाया भुगतान कराने के लिए राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

मुज़फ्फरनगर। सोमवार को राष्ट्रीय लोकदल के जिलाध्यक्ष अजीत राठी और पूर्व मंत्री योगराज सिंह के नेतृत्व में भैसाना शुगर मिल पर किसानों के बकाया 117 करोड़ के ब्याज समेत अतिशीघ्र भुगतान कराने के लिए जिलाधिकारी मुज़फ्फरनगर के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा गया।
भैसाना शुगर मिल पर किसानों का पिछले वर्षों के गन्ने का 117 करोड़ रुपया बकाया है। बीते साल भी राष्ट्रीय लोकदल ने भैसाना मिल पर गन्ना भुगतान के लिए धरना दिया था, धरना समाप्त करवाते हुए भैसाना चीनी मिल के प्रबंधतंत्र ने प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में 35 करोड़ के भुगतान का वादा किया था। वादे के अनुसार मिल को रोज दो करोड़ रुपए का भुगतान करना था। मिल ने 35 करोड़ के भुगतान का वादा पूरा नहीं किया। जिसके बाद डीएम डीके सिंह के आदेश पर बुढाना गन्ना समिति के प्रभारी सचिव संजय कुमार की ओर से भैसाना चीनी मिल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। मिल के वीपी राजसिंह चौधरी और मुख्य वित्त अधिकारी वेदप्रकाश को नामजद किया गया था।
एक तो फसल का दाम वैसे ही कम है और ऊपर से मिल भी समय पर भुगतान नही करता है, जिससे किसानों की हालत दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही है। किसान तो पहले से ही कर्जे में है और समय पर भुगतान न मिलने के कारण उस पर कर्ज हर दिन बढ़ता जा रहा है। किसानों को एक आस बंधी थी कि कर्ज माफ होगा पर उसमे भी किसी के 3 रुपये किसी के 23 रुपये माफ हो रहे है, बहुत ही कम किसान है जिनका कर्ज माफ होगा। सरकार की ये योजना भी किसानों के साथ एक मजाक ही साबित हो रही है।
राष्ट्रीय लोकदल के ज्ञापन अनुसार किसानों पर किसी भी तरह का अत्याचार या उनकी अनदेखी बर्दाश्त नहीं होगी। अगर ये बकाया भगतान ब्याज समेत शीघ्र नही किया गया तो राष्ट्रीय लोकदल जिले में एक बड़ा अनिश्चितकालीन आंदोलन करने को मजबूर होगा। जिलाध्यक्ष के साथ हर्ष राठी, चौधरी इरशाद जाट, विकास बालियान, अभिषेक चौधरी, हंसराज जावला, अंकुर राठी, विकास कादियान, मोंटी चौधरी, राहुल राणा, आशु अहलावत, यथार्थ अहलावत, शिवम चौधरी, अश्वनी चौशरी आदि मौजूद थे।

Share it
Top