मुज़फ्फरनगर: घरेलू सिलेंडर से नए तरीके से चोरी हो रही गैस

मुज़फ्फरनगर। आपका गैस सिलेंडर जिस लोडिंग ऑटो में आप तक पहुंचता है, संभव है कि वह आप ही के सिलेंडर से चलकर आपके घर तक आया हो। आपके घर तक सिलेंडर पहुंचाने की जिम्मेदारी निभाने वाले लोग डिलीवरी देने से पहले ही उसे खोलकर ईंधन के रूप में उपयोग कर लेते हैं। ऐसे में गैस की चोरी तो हो ही रही है, मगर टंकी का ढक्कन पहले ही खुल जाने से नियमों का उल्लंघन भी हो रहा है और लोगों की जान को भी दांव पर लगाया जा रहा है। सरकार घरेलू सिलेंडर की कालाबाजारी रोकने की लाख कोशिशें कर रही है। इसके बावजूद सिलेंडर की कालाबाजारी के काम में लगे लोग कोई न कोई रास्ता निकाल ही लेते हैं। इसकी मिसाल मुज़फ्फरनगर में बखूबी देखने को मिल रही है।
रुड़की रोड निकट शाहुद्दीनपुर रोड पर रिफलिंग करते विशाल भारत गैस के सप्लायर घरों में सिलेंडर पहुंचाने से पहले ही एक से डेढ़ किलो गैस निकाल लेते हैं । गैस चुराने के बाद वे फिर नॉब लगा देते हैं और फिर सीलबंद भी कर देते हैं, जिससे किसी को शक न हो। ग्राहक प्लास्टिक की सील को देखकर यह सोचता है कि सील बंद सिलेंडर है यानी गैस पूरी होगी, लेकिन चोरी करने वाले सील सहित भी नॉब निकाल लेते हैं और फिर नॉब लगाकर सिलेंडर डिलीवर कर देते हैं।

Share it
Top