उद्यमियों की समस्याओं का निस्तारण शीर्ष प्राथमिकताः डीएम

उद्यमियों की समस्याओं का निस्तारण शीर्ष प्राथमिकताः डीएम

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी ने यूपीएसआईडीसी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि औद्योगिक प्लाट के लिए ऑनलाईन आवेदन प्राप्त करें और समस्त रिक्मण्डेशन भी ऑनलाईन की जाये। उन्होंने कहा कि अगली बैठक में औद्योगिक प्लाट के लिए आवेदन करने वाले उद्यमियों को भी आंमत्रित किया गया। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि औद्योगिक इकाई स्थापित करने के लिए जो आंवटन किये गये है और पिछले 6 वर्षाे से उनका कोई उपयोग नही हो रहा है। इसके बारे में भी अवतग कराया जाये। उन्होंने उपायुक्त उद्योग को निर्देश दिये कि नई इंडस्ट्रियल पॉलिसी जारी हो गयी है उसके बारे मे भी जागरूकता अभियान किया जाये और सभी उद्यमियों को नई पॉलिसी के बारे में अवगत कराया जाये। इसके अतिरिक्त उन्होने नये आईटी पार्क की स्थापना के सम्बन्ध में विचार किये जाने और प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी कलैक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला उद्योग बन्धु की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। जिले में औद्योगिक वातावरण को मजबूत बनाने के लिए औद्योगिक इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने की जरूरत है विशेषकर विद्युत विभाग इस में अहम भूमिका अदा कर सकता है। उन्होंने कहा कि उद्योगो को जिस स्थान पर विद्युत की बेहतर सुविधा मिलेगी वही पर उद्योग पनपेंगे तथा विद्युत के साथ-साथ औद्योगिक भूमि स्थल व मार्किटिंग का भी होना जरूरी है। इसी क्रम में जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि उद्योगो की विद्युत सम्बन्धी समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि प्रदेश में नये औद्योगिक नीति लागू हो गयी है। उन्होंने बताया कि नयी औद्योगिक नीति से उद्योग लाभान्वित होंगे। शासन के स्पष्ट निर्देश है कि जिले में औद्योगिक वातावरण को बढावा दिया जाये पुराने उद्योगों के साथ नये व आधुनिक तकनीक पर आधारित उद्योगों की भी स्थापना हो। उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि नये बिजली घर उनको संचालित करने के लिए अवश्यक कार्यवाही कर एवं विद्युत आपूर्ति को बेहतर बनाए।
बैठक में क्षेत्रीय प्रबन्धक यूपीएसआईडीसी द्वारा अवगत कराया गया है कि औद्योगिक क्षेत्र बेगराजपुर में लगातार लो-वोल्टेज तथा ब्रेक डाउन की समस्या के सम्बन्ध में बताया गया कि इस सम्बन्ध में अभी टेक्निकल कमेटी का अनुमोदन प्राप्त नहीं हो पाया है अनुमोदन प्राप्त होते ही कार्य प्रारम्भ करा दिया जायेगा। अरिहन्त लैन पर पानी की निकासी कराये जाने के सम्बन्ध में बताया कि अपर मुख्य अधिकारी ने नाला बनाया जाने के सम्बन्ध में टेण्डर आमंत्रित किये है। इसके अतिरिक्त उद्यमियों की अन्य शिकायतों के सम्बन्ध में भी जिलाधिकारी द्वारा प्राथमिकता पर निस्तारण के निर्देश सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को दिये।
जिलाधिकारी ने कहा कि उद्यमियों कों मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जाये जिससे वे और अधिक मात्रा में अपना उत्पाद बढा सकें। उन्हेाने कहा कि उद्योंगो के लिए बिजली सबसे महत्वपूर्ण है विद्युत की आपूर्ति नियमित रखी जाये। इसके अतिरिक्त अधिक से अधिक समस्याओं का निस्तारण उद्योग बन्धु के मंच पर कराना सुनिश्चित किया जाये।
इसके अतिरिक्त गत बैठक में प्रस्तुत अन्य समस्याओं के निस्तारण पर भी चर्चा की गयी। इसके अतिरिक्त उद्यमियों से सुझाव भी प्रस्तुत करने का आह्वान किया गया। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल, उप आयुक्त उद्योग, विद्युत विभाग तथा सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों सहित बडी संख्या में उद्यमी एवं उनके प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Share it
Top