मुजफ्फरनगर में सीकरी के पूर्व प्रधान की हत्या...पल्सर सवार बदमाशों ने दिनदहाड़े ही आर्यपुरी में दिया वारदात को अंजाम

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर के शहर कोतवाली क्षेत्र के पॉश इलाके आर्यपुरी में आज दिनदहाडे पल्सर सवार बेखौफ बदमाशों ने सीकरी के पूर्व प्रधान मौहम्मद अम्मार की गोलियों से भूनकर निर्मम हत्या कर दी। मौहम्मद अम्मार पर तीन गोली दागी गई, जिसमें से दो गोलियां उनके सीने में लगी। गम्भीर हालत में उन्हें जिला चिकित्सालय ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मृतक पूर्व प्रधान देवबंद के मदनी परिवार का रिश्तेदार बताया जा रहा है और उनके पूर्व सांसद कादिर राणा से भी नजदीकी सम्बन्ध थे। पूर्व प्रधान की हत्या चुनावी रंजिश में होने की बात सामने आई है।

जानकारी के अनुसार भोपा थाना क्षेत्र के गांव सीकरी के पूर्व प्रधान 54 वर्षीय मौहम्मद अम्मार अहमद सिद्दीकी पिछले काफी दिनों से शहर कोतवाली क्षेत्र के मौहल्ला लद्दावाला में परिवार सहित रह रहे थे। बताया जा रहा है कि आज सुबह लगभग 11 बजे वह किसी कार्य से शहर में बालाजी चौक के निकट आये थे। अपनी एटर्नो स्कूटर संख्या यूपी-12जे-4898 पर सवार होकर जब वह नकर के पॉश इलाके आर्यपुरी गली में पहुंचे तो अंसारी रोड के निकट पल्सर बाईक सवार दो बदमाशों ने उन्हें पिस्टल की नोंक पर रोक लिया और बाईक पर पीछे बैठे एक बदमाश ने अपनी पिस्टल से उन पर ताबडतोड फायरिंग कर दी। नकाबपोश बदमाश ने उन पर तीन फायर झोके, जिसमें से दो गोली उनकी छाती व पसली में लगी, जिससे वह स्कूटर समेत वहीं गिर पडे। गोली मारने के बाद पल्सर सवार बदमाश अंसारी रोड से ब्रह्मपुरी की ओर फरार हो गये। गोलियां चलने की आवाज सुनकर मौके पर लोगों की भीड लग गई। वहां रहने वाले कई लोग भी अपने घरों से बाहर आ गये। गोली लगने से सडक पर पडे तडप रहे पूर्व प्रधान को एक ई-रिक्शा चालक ने अपनी रिक्शा में डाला और जिला चिकित्सालय ले गया, जहां पर लगभग पांच मिनट बाद ही चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। आर्यपुरी में फायरिंग की सूचना पर सीओ सिटी हरीश भदौरिया सबसे पहले पहुंचे। उनके बाद एसपी सिटी ओमवीर सिंह भी घटनास्थल पर फोरेसिंक टीम के साथ पहुंचे। पुलिस ने घटनास्थल पर जांच


पडताल की। इसके बाद सभी पुलिस अधिकारी जिला चिकित्सालय पहुंच गये। शहर कोतवाल संजीव कुमार शर्मा व एसएसआई समयपाल सिंह अत्री भी पुलिस बल के साथ जिला चिकित्सालय पहुंचे। पूर्व प्रधान की हत्या की जानकारी मिलते ही बडी संख्या में मौहल्ला लद्दावाला के लोग वहां पहुंच गये। इसी बीच उनके भाई बिलाल को भी सूचना मिली, जिस पर वे भी अस्पताल पहुंचे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मोर्चरी मेें रखवा दिया। मोर्चरी पर पहुंचे मृतक के परिजनों ने जमकर हंगामा किया और पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया। एसपी सिटी ओमवीर सिंह ने बताया कि हत्यारों को पकडने के लिये काम्बिंग कराई जा रही है। सीओ सिटी हरीश भदौरिया ने बताया कि शुरूआती जांच में पता चला है कि सीकरी निवासी हिस्ट्रीशीटर जमशेद से मृतक पूर्व प्रधान मौहम्मद अम्मार अहमद सिद्दीकी की चुनावी रंजिश है। इससे पहले भी जमशेद और उसके भाई गुल सनव्वर ने पूर्व प्रधान पक्ष के तस्लीम नामक व्यक्ति की हत्या कर दी थी। उस मामले में जमशेद और उसका भाई जेल में बंद है। कयास लगाये जा रहे हैं कि जमशेद ने ही भाडे पर बदमाशों से पूर्व प्रधान की हत्या कराई है। पुलिस ने दावा किया है कि जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जायेगा।


Share it
Top