उत्कल एक्सप्रेस हादसा: मुजफ्फरनगर के जीआरपी थाने में दर्ज हुई पहली एफआईआर

उत्कल एक्सप्रेस हादसा: मुजफ्फरनगर के जीआरपी थाने में दर्ज हुई पहली एफआईआर

मुजफ्फरनगर । मुजफ्फरनगर के खतौली में हुए उत्कल एक्सप्रेस हादसे मामले में पहली एफआईआर दर्ज हो गई है। मुजफ्फरनगर के जीआरपी थाने में 145/17 पर एफआईआर दर्ज की गई है। जीआरपी चौकी इंचार्ज खतौली अजय सिंह ने ये एफआईआर लिखवाई है। इसमें आईपीसी की धारा 287, 337, 338, 304A के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। वहीं रेलवे एक्ट की धारा 151, 153 में भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

दरअसल मुजफ्फरनगर के खतौली में शनिवार को हुए दर्दनाक रेल हादसे में रेलवे की लापरवाही की सामने आ रही थी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, जिस जगह पर उत्कल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हुई वहां पर पटरी खराब थी। मरम्मत का काम भी चल रहा था।
इतना ही नहीं मरम्मत का काम चलने के बावजूद चेतावनी का बोर्ड नहीं लगा था, लिहाजा ट्रेन 100 की स्पीड से जा रही थी। हादसे के बाद उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन की एस 2 बोगी बगल के ही एक घर में जा घुसी। इस घर के एक बुजुर्ग इस हादसे में घायल हो गए।
घर के मालिक जगत सिंह ने कहा कि यह हादसा नहीं हत्या है। उनके नौकर ने डेढ़ महीने पहले ही पटरी क्रैक होने की सूचना दे दी थी। रेलवे प्रशासन ने मरम्मत करने की बात कही थी। इसके बावजूद किसी ने ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि उनके पास इसका सबूत भी है। यह बात पेपर में भी छपी थी और उसकी कटिंग भी है।
उन्होंने कहा कि हादसे के वक्त वे अपने पिता के साथ ही बाहर बैठे थे। ट्रेन की स्पीड ज्यादा थी। अचानक से डिब्बे उनके घर की तरफ उड़ने लगे। वे अपने पिता को लेकर भागे, लेकिन उन्हें चोट लग गई। इस हादसे में उनका घर भी क्षतिग्रस्त हो गया।

Share it
Top