जनपद मुजफ्फरनगर का नाम क्राइम मैप से हटाना है- प्रमुख सचिव

जनपद मुजफ्फरनगर का नाम क्राइम मैप से हटाना है- प्रमुख सचिव


मुजफ्फरनगर । जिले की प्रमुख सचिव परिवहन/नोडल अधिकारी आराधना शुक्ला ने कहा कि शासन की मंशा है कि कानून व्यवस्था की स्थिति बेहतर हो। उन्होंने कहा कि शासन कानून व्यवस्था को लेकर संवेदनशील है। अधिकारी समन्वय स्थापित करें और जनपद को भयमुक्त और अपराधमुक्त बनाएं। उन्होंने कहा कि आरोपियों के विरूद्ध समय से आरोप पत्र दाखिल करें जिससे आरोपी जमानत न पा सकें। अपराधी की जगह जेल है। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि जघन्य अपराधों में गिरफ्तार हुए व्यक्ति बाहर न निकलें और खुले में न घूम सकें।
प्रमुख सचिव परिवहन/नोडल अधिकारी आराधना शुक्ला आज यहां विकास भवन सभागार में लॉ एंड ऑर्डर एवं राजस्व कार्यों की समीक्षा कर रहीं थी। उन्होंने एसएसपी अनन्त देव तिवारी को 50 हजार के ईनामी बदमाश के एनकाउंटर पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि शांति भंग में 107/16 की कार्यवाही कराना सुनिश्चित किया जाये। एसडीएम इस बिन्दु को दृष्टिगत रखे और पर्याप्त संख्या में 107/16 की कार्यवाही करें। महिलाओं के विरूद्ध होने वालो अपराधों में कमी लाई जाये। उन्होंने कहा कि जनपद मुजफ्फरनगर का नाम क्राइम मैप से हटाना है। उन्होने गैगेस्टर, दहेज मृत्यु, अपहरण, शीलभंग आदि प्रकरणों में की गयी निरोधात्मक कार्यवाही की भी समीक्षा की गयी।
प्रमुख सचिव ने यातायात सम्बन्धी जागरूकता बढ़ाएं जाने के सम्बन्ध में समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि पुलिस एवं परिवहन विभाग आपसी समन्वय स्थापित कर संयुक्त अभियान चलायेंगे तो उसके अच्छे परिणाम सामने आयेंगे। मार्च माह में अधिकांश दुर्घटनाएं घटित होती है। रूलिंग के अनुसार डीलर बिना हेलमेंट के दो पहिया वाहन नही बेचेंगे। उन्होंने कहा कि रोड सेफ्टी की बैठके करायी जाये। उन्होंने सभी कार्यालयाध्यक्षों कोे निर्देश दिये कि वह अपने कार्यालय में कार्यरत कार्मिकों को निर्देशित करें कि हेलमेंट पहन कर ही वाहन चलायें और यह सुनिश्चित करे कि उनके कर्मी हेलमेट पहन कर ही दो पाहिया वाहन चलाकर आते है। उन्होंने सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी को निर्देश दिये कि वे हेलमेंट की क्वालिटी को भी दिखवा लें। उन्होने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये कि चार पहिया वाहन चलाते समय शीटबेल्ट लगाना सुनिश्चित कराये। प्रमुख सचिव ने हेलमेट/शीलबेल्ट/ड्राईविंग लाईसेंस के शमन शुल्क की भी जानकारी प्राप्त की।
उन्होंनेे कहा कि ब्लेकस्पोट चिन्हित किये जाये तथा पीडब्ल्यूडी विभाग सडकों पर माइलस्टोन लगवाये जाना सुनिश्चित करें। उनके विभाग की और से प्रत्येक जनपद में सबसे अधिक भीड़भाड़ वाले स्थान पर एलईडी स्क्रीन लगवाई जायेगी। ट्रेक्टर्स आदि का कॉमर्शियल इस्तेमाल न हो तथा ट्रको में सरिया ऑवरहेंग न हो। उन्होंने पंजीकृत और गैर पंजीकृत ई-रिक्शाओं के बारे में भी जानकारी प्राप्त की।
प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि थाना समाधान दिवस में आने वाले भूमि सम्बन्धी शिकायतों के निस्तारण के सम्बन्ध में पुलिस एवं राजस्व विभाग की संयुक्त टीम भेजी जाये जो मौके पर गुणवत्तापूर्ण निस्तारण कराये। उन्होंने सरर्किल वाईज लंबित विवेचनाओं की भी समीक्षा की और निर्देश दिये कि एक भी विवेचना लंबित न रखी जाये। उन्होने संगठित भू-माफियाओं और उनके विरूद्ध की गयी कार्यवाही तथा एन्टीरोमियो स्क्वायड तथा यूपी-100 पर प्रति दिन प्राप्त शिकायतें एवं उन पर की गयी कार्यवाही की जानकारी ली। इसके अतिरिक्त उन्होंने कहा कि आने वाले समस्त त्यौहार शांतिपूर्ण, सुव्यवस्थित तथा सौहार्दपूर्ण ढंग से मनाये जाये। उन्होंने कहा कि एसडीएम एवं क्षेत्राधिकारी अपने क्षेत्रों में भ्रमणशील रहे और ग्राम चौकीदार तथा बीटकॉस्टेबल का भी सचेत करें कि वह अपने ग्रामीण क्षेत्रो में पैनी नजर रखें।
इस अवसर पर जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी, एसएसपी अनन्तदेव तिवारी, मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल, एसपी क्राईम, एसपी सिटी, एसपी ट्रेफिक तथा उप जिलाधिकारी, समस्त क्षेत्राधिकारी एवं अन्य सभी सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Share it
Top