आज समाप्त हो जाएगा ट्रेनों का अज्ञातवास

आज समाप्त हो जाएगा ट्रेनों का अज्ञातवास

मुजफ्फरनगर। मेरठ सिटी-दौराला के मध्य चल रहे दोहरीकरण के कार्य के चलते रेलवे विभाग की ओर से किये गये 56 ट्रेनों के विभिन्न तिथियों में रद्द होने के कार्यक्रम का कल (आज) अंतिम दिन ही कहा जाएगा, क्योंकि तीन ट्रेनों को छोड़कर अधिकांश का लगभग दो सप्ताह का अज्ञातवास समाप्त हो जाएगा। तीन में से दो का 15 को व एक का 16 जुलाई को अज्ञातवास समाप्त हो जाएगा। इस दौरान यात्रियों को अनेक प्रकार की समस्याओं से दो चार होना पड़ा। वहीं दूसरी ओर यात्रियों का सारा भार रोडवेज पर आ पड़ा था, जिसक चलते रोडवेज अधिकारियों व कर्मचारियों को व्यवस्था बनाने में ऐड़ीचोटी का जोर लगाना पड़ा था। इस बीच नौचंदी अप व डाउन का नौ जुलाई तक संचालित किया गया, लेकिन 10 जुलाई से पिफर से इसे रद्द कर दिया गया। वहीं इसके साथ ही साथ ऋषिकेश पैसंेजर अप व डाउन सहित देहरादून-बांद्रा अप व डाउन को भी चलाया गया था।
वहीं ट्रेनों की जानकारी करने को लेकर पूछताछ केंद्र पर भी लोगों की कुछ दिन तक भीड नजर आयी। स्टेशन भी ट्रेनों के न आने को लेकर ऐसा लगने लगा था कि मानो किसी गांव का हो।
गौरतलब है कि मेरठ सिटी-दौराला के मध्य चल रहे दोहरीकरण के कार्य के चलते रेलवे विभाग की ओर से किया जा रहा दो घंटे के ट्रैक ब्लॉक का कार्यकाल जो कि तीन जुलाई तक था, समाप्त भी नहीं हुआ था कि रेलवे की ओर से यात्रियों को जोर का झटका धीरे से दे दिया गया था। वह था विभिन्न तिथियों मंे इस मार्ग सहित मेरठ से संबंधित मार्ग पर संचालित होने वाली 56 ट्रेनों के रद्दीकरण का। यह दो से लेकर 16 जुलाई तक बताया गया था, जिसमें अधिकांश तीन ट्रेनों को छोड़कर सभी 14 तक रद्द बतायी गयी थीं। इसके अतिरिक्त चार ट्रेनों को शामली-टपरी के रास्ते से संचालित किया जाना बताया गया था। छह ट्रेनों का पथ संचालन अल्प अर्थात छोटा किया गया। जो कि मेरठ-सहारनपुर के बीच रद्द रहीं, लेकिन सहारनपुर से आगे अंबाला-ऋषिकेश की ओर इनका संचालन जारी रहा। इसके अलावा ऋषिकेश पैसंेजर को चार से छह जुलाई तक सहारनपुर से लेकर सकौती टांडा तक विभिन्न स्टेशनों पर रोक-रोक कर संचालित किया गया। यह सब कार्य मेरठ-दौराला के मध्य नॉन इंटरलोकिंग के तहत लाइनों को सिगनलों से जोड़ने के तहत किया गया।

Share it
Top