खतौली कोतवाली प्रभारी ने नहीं माना भाजपा नेताओं का दबाव

खतौली कोतवाली प्रभारी ने नहीं माना भाजपा नेताओं का दबाव

खतौली। हाईटेंशन विद्युत लाइन से मिलाकर लगाये जा रहे कांवड सेवा शिविर को कोतवाली प्रभारी प्रीतम पाल सिंह ने भाजपा नेताओं के दबाव के बावजूद उखडवा दिया। बाद में ऊँचाई घटाये जाने की सहमति बनने पर ही कांवड शिविर दोबारा लगाया जा सका। इस प्रकरण की खास बात यह रही कि सपा सरकार में पुलिस प्रशासन के सिर पर नाचने वाले भाजपा से जुड़े व्यापारी आज कोतवाली पुलिस के सामने भीगी बिल्ली बन रहे। गांधी आश्रम के सामने जीटी रोड पर भाजपा से जुड़े व्यापारियों द्वारा विशाल कांवड सेवा शिविर लगाये जाने की तैयारी आज जोर शोर से की जा रही थी, किन्तु शिविर के ज्यादा उंचाई के चलते उपर जा रही हाईटेंशन विद्युत लाइन से मिल जाने से इस पर पुलिस प्रशासन की आपत्ति लग गयी। शिविर की उंचाई कम करने की बात न मानने पर कोतवाल प्रीतम पाल सिंह ने आज मौके पर आकर शिविर लगा रहे व्यापारियों को जमकर हडकाकर उन्हें कानूनी कार्यवाही किये जाने की चेतावनी दी, जिसके बाद व्यापारियों ने आनन-पफानन शिविर में लगी पाइप बल्ली खोलनी शुरू कर दी। भाजपा नगर अध्यक्ष प्रशान्त देशवाल द्वारा हर साल शिविर इतनी ही उंचाई पर लगाये जाने की दलील देने का भी कोतवाल प्रीतम पाल सिंह पर कोई असर नहीं हुआ तथा उन्होंने कांवडियों की सुरक्षा को देखते हुए इतनी उंचाई पर शिविर लगाने की अनुमति देने से सापफ मना कर दिया। चर्चा है कि अपनी बात उपर रखने के लिये स्थानीय भाजपा नेताओं ने इधर उधर फोन किये, किन्तु बात नहीं बनी। बाद में व्यापारियों द्वारा शिविर की उंचाई 17 से घटाकर 12 फुट किये जाने की सहमति व्यक्त करने पर ही कोतवाल प्रीतम पाल सिंह ने उन्हे शिविर लगाने की प्रमिशन दी। शिविर प्रकरण में खास बात यह रही कि सपा सरकार में पुलिस प्रशासन के सिर पर नाचने वाले भाजपा से जुड़े व्यापारी आज कोतवाल प्रीतम पाल सिंह के सामने भीगी बिल्ली बने रहे, बल्कि कुछ ने तो मौके से खिसकने में ही अपनी भलाई समझी। इसके बाद कोतवाल प्रीतम पाल सिंह ने सपा नेता देवराज त्यागी द्वारा लगाये गये विद्युत लाइन से सटे कांवड सेवा शिविर को खुलवाकर उसकी भी उंचाई कम करायी।

Share it
Share it
Share it
Top